निवाड़ी। नईदुनिया न्यूज

जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में मनरेगा के कार्यों में 60ः40 के अनुपात का पालन न कर बहुत बड़ी धांधली कर वित्तीय अनियमित्ता की गई। मनरेगा के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए कंवर्जेस के करोड़ों रुपए के कार्यों की स्वीकृति का मामले ने जोर पकड़ा। मनरेगा के अधिकारी, कर्मचारी एवं वाटरसेट का कर्मचारी सब इंजीनियर व प्राइवेट ठेकेदार द्वारा यह मनरेगा निर्माण कार्यों में अनियमित्ताएं कर सरपंचों से भारी भरकम वसूली कर करोड़ों रुपए के कार्य स्वीकृत कर दिए गए। अधिकारियों की मिलीभगत से करीब 70 लाख रुपए का भुगतान भी कर दिया गया, जिसकी शिकायत कलेक्टर से होने के बाद कलेक्टर नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी ने उक्त मामला संज्ञान में लेकर जांच कमेटी गठित की थी, लेकिन 29 दिन बीत जाने के बाद भी जांच कमेटी द्वारा जांच पूर्ण नहीं की जा रही है। क्योंकि जांच कमेटी को अभी तक 234 निर्माण कार्यों की फाइलों में सिर्फ 114 फाइलें ही जांच कमेटी को मिल सकी।

कलेक्टर ने 16 दिसंबर 2021 को जनपद पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी की शिकायत पर कलेक्टर द्वारा 4 सदस्यीय जांच दल गठित किया गया था जिसमें एडीएम एसके अहिरवार, जिला पंचायत में कार्यरत पंचायत राज अधिकारी संजीव वशिष्ट, लेखापाल राजीव सेन, सीनियर डाटा ऑपरेटर शामिल हैं, लेकिन जांच कमेटी द्वारा 29 दिन बीत जाने के बाद भी जांच रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं की जा सकी है। जांच कमेटी के सदस्य ने बताया कि अभी तक 114 फाइल आई है, लेकिन जांच की रिपोर्ट बनाई जा रही है, जो दो तीन दिन में बनकर प्रस्तुत की जाएगी। जबकि जनपद पंचायत सीईओ निवाड़ी ने पंचायतों के सचिव व रोजगार सहायकों को उन्हें नोटिस देकर निर्देशित किया है कि निर्माण कार्यों की फाइल जांच कमेटी को प्रस्तुत करें इसके बाद भी जांच कमेटी को फाइलें नहीं मिल सकी। जांच कार्य किसी प्रकार से प्रभावित न हो, इसके लिए कलेक्टर ने जनपद पंचायत में पदस्थ सहायक यंत्री अनुग्रह सिंह को हटाकर पृथ्वीपुर में पदस्थ सहायक यंत्री ओपी दुबे को निवाड़ी का प्रभार सौपे जाने का आदेश जारी किया था।

----------------

जनपद सीईओ ने 89 निर्माण कार्यों पर लगाई रोक

जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा मनरेगा योजनांतर्गत 131 निर्माण कार्यों राशि 501.63 लाख को स्थगित किया, साथ ही शेष बचे 89 स्वीकृत कार्यों लागत 328.80 लाख के कार्यों 16 दिसंबर को पत्र जारी कर जनपद पंचायत के सचिव एवं रोजगार सहायकों को हिदायत देते हुए निर्देशित किया कि उक्त निर्माण कार्यों को तत्काल प्रभाव से स्थगित कर रोक लगाए जाने की आदेश जारी किया अगर कोई उक्त निर्माण कार्य कराया जाता है तो वह स्वयं जिम्मेदार होगा व उससे वसूली होगी लगाई गई है।

-------------

क्या कहते हैं अधिकारी

जनपद पंचायत के सहायक यंत्री की वित्तीय अनियमित्ताओं को लेकर कलेक्टर ने मेरे नेतृत्व में जांच कमेटी गठित की थी, जिसमें अभी तक फाइलें प्राप्त नहीं हुई हैं। 250 फाइलों में करीब 100 फाइलें ही मिली हैं। कल ही मैंने जांच कमेटी के सदस्यों को निर्देशित किया है कि जांच तत्काल पूर्ण करें और प्रतिवेदन कलेक्टर को पेश करना है।

- एसके अहिरवार, अपर कलेक्टर, अध्यक्ष जांच समिति निवाड़ी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local