उज्जैन (ब्यूरो)। इंदौर रोड फोरलेन पर रविवार सुबह हादसे में चार लोगों की मौत हो गई । एक लेन से दूसरी लेन में जाने के दौरान ऑटो को बेलगाम निजी यात्री बस ने चपेट में ले लिया और करीब 50 मीटर तक घसीट ले गई। इससे ऑटो सवार तीन यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं चालक ने उपचार के लिए ले जाते समय दम तोड़ दिया। मृतकों में जबलपुर के दंपति व उनके परिवार की ही एक अन्य महिला शामिल है। पुलिस ने बस जब्त कर ली है। चालक फरार हो गया है।

नानाखेड़ा पुलिस के अनुसार हादसा सुबह 9.15 बजे हुआ। जबलपुर के रतननगर (थाना गढ़ा) निवासी सतानंद पिता देवाशंकर कुमुद (73) पत्नी कांता (71) व परिजन साधना पति अरविंद कुमुद (56) के साथ बिलासपुर-इंदौर ट्रेन से यहां विवाह समारोह में शामिल होने आए थे।

माधवनगर रेलवे स्टेशन के बाहर से उन्होंने मेघदूत रिसोर्ट जाने के लिए ऑटो (क्र. एमपी 13-आर 1395) लिया। रिसोर्ट के ठीक सामने ऑटो ने जैसे ही दूसरी लेन में जाने के लिए टर्न लिया, इंदौर की ओर से आ रही शुक्ला ब्रदर्स की बस (क्र. एमपी 09- एफए 4788) ने उसे चपेट में ले लिया। तेज रफ्तार बस ऑटो को करीब 50 मीटर तक घसीटते हुए ले गई। इस दौरान झटके से चारों लोग थोड़ी-थोड़ी दूरी पर उछलकर सड़क पर जा गिरे।

सतानंद, कांता व साधना ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। गंभीर घायल ऑटो चालक राजेंद्र पिता छगनलाल बौरासी (40) निवासी नीलगंगा तिराहा की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। घटना से बस में सवार यात्री हक्के-बक्के रह गए, वहीं चालक भाग निकला। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को जिला अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने धारा 279, 337 व 304ए के तहत केस दर्ज किया है।

खंडवा में होगा अंतिम संस्कार

मृतक सतानंद के पुत्र डॉ.नीरू कुमुद खंडवा में पशु चिकित्सक हैं। हादसे की खबर मिलते ही वे उज्जैन पहुंचे। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शाम 6 बजे तीनों के शव उन्हें सौंप दिए। अंतिम संस्कार खंडवा में किया जाएगा। वहीं ऑटो चालक राजेंद्र का अंतिम संस्कार चक्रतीर्थ पर किया गया है।