उज्जैन। इंदौर रोड स्थित शिप्रा नदी पर बने त्रिवेणी पुल पर रविवार शाम करीब 4 बजे बड़ा हादसा टल गया। तेज रफ्तार बस कार को ओवरटेक करने के चक्कर में पुल पर बने फुटपाथ से जा टकराई और रैलिंग तोड़ते हुए लटक गई। बस में सवार 60 यात्रियों की जान पर बन आई। राहगीरों और पुलिस ने यात्रियों को सुरक्षित निकाला। दुर्घटना में इंदौर की आठ साल की बच्ची को चोट आई है।

एसआई विकास देवड़ा ने बताया कि शुक्ला ब्रदर्स टूर एंड ट्रैवल्स की बस (एमपी 13-पी 2070) को लेकर ड्राइवर दीपक पिता यशवंत (36) निवासी महेश विहार कॉलोनी रविवार दोपहर इंदौर से उज्जैन आ रहा था। त्रिवेणी पुल पर बस ने कार को ओवरटेक करने का प्रयास किया, तभी फुटपाथ पर चढ़कर रैलिंग से टकराई और स्ट्रीट लाइट के पोल को तोड़कर पुल पर लटक गई। पुल पर लोहे की जाली लगी होने से बस अटक गई।

बस से उतरकर भाग रहा था ड्राइवर, लोगों ने पकड़ा

जाली नहीं होती तो बस सीधे 50 फीट नीचे शिप्रा नदी में गिरती तो बड़ा हादसा हो सकता था। दुर्घटना में 8 साल की बालिका दिव्या पिता दिलीप निवासी हवा बंगला इंदौर को चोट लगी है। दुर्घटना के बाद ड्राइवर वहां से भागने लगा तो लोगों ने उसे पकड़ लिया। यात्रियों ने डायल 100 पर फोन कर पुलिस को सूचना दी और ड्राइवर को सौंपा।