उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में निर्माण कार्यों के चलते मंदिर प्रशासन ने दर्शन व्यवस्था में बदलाव किया है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए नए द्वारों से प्रवेश व निर्गम की व्यवस्था लागू की गई है।

महाकालेश्वर मंदिर के पिछले हिस्से में स्मार्ट सिटी योजना व मंदिर प्रबंध समिति द्वारा 700 करोड़ रुपये की लागत से निर्माण व सुंदरीकरण के काम कराए जा रहे हैं। समिति की योजना महाशिवरात्रि पर निर्माण कार्यों का लोकर्पण कराने की है। इसके लिए शेष कामों को समय सीमा में पूरा किया जा रहा है। निर्माण कार्यों के चलते मंदिर के निर्गम द्वारा के सामने वाले मार्ग पर आवागमन अवरुद्ध हो गया है। इसके चलते मंदिर प्रशासन ने दर्शन व्यवस्था में बदलाव किया है।

गेट-4 और 5 से प्रवेश

प्रशासक गणेश कुमार धाकड़ ने बताया नई व्यवस्था के तहत सामान्य दर्शनार्थियों को गेट 4 से मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। वहीं 250 रुपये के शीघ्र दर्शन टिकट तथा प्रोटोकाल के तहत आने वाले श्रद्धालुओं के प्रवेश की व्यवस्था गेट नं.5 से रहेगी। भगवान महाकाल के दर्शन के बाद सभी श्रद्धालु नंदी हाल की रैंप से परिसर में आएंगे तथा यहां से देवास धर्मशाला के पास वाले गेट से महाकाल प्रवचन हाल परिसर से होते हुए बड़ा गणेश मंदिर के सामने से बाहर आएंगे।

इस मार्ग से गणेश मंडपम् पहुंचेंगे भक्त

गेट नं.4 : सामान्य दर्शनार्थी गेट नं.4 से भीतर प्रवेश करने के बाद विश्राम धाम, मार्बल गलियारा से होते हुए कार्तिकेय मंडपम् में पहुंचेंगे तथा रैंप से नीचे उतरकर गणेश मंडपम् से भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे।

गेट नं.5 : सशुल्क टिकटधारी व प्रोटोकाल के तहत आने वाले दर्शनार्थी गेट नं.5 से भीतर प्रवेश करने के बाद विश्राम धाम की सीढ़ी से उतरकर परिसर में आएंगे। यहां से ओकारेंश्वर मंदिर के पास स्थित सूर्यमुखी हनुमान मंदिर की सीढ़ी से नीचे उतरकर गणेश मंडपम् से भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे।blockquote class="koo-media" data-koo-permalink="https://embed.kooapp.com/embedKoo?kooId=44c745a6-9386-485f-9c00-96ccc500e783" style="background:transparent;border: medium none;padding: 0;margin: 25px auto; max-width: 550px;">

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local