उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर की प्राचीन धरोहर गोवर्धन सागर को संवारने के लिए रामादल अखाड़ा परिश्रद द्वारा शुरू किए गए श्रमदान अभियान को व्यापक जनसहयोग मिल रहा है। शुक्रवार को सागर की सफाई के लिए संसाधन कम पड़ने लगे तो तत्काल समाजसेवियों ने इनका इंतजाम कर दिया। स्थानीय रहवासी श्रमदानियों के लिए जलपान का इंतजाम कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि बीते 80 सालों में पहली बार सागर की सफाई हो रही है।

महंत डा.रामेश्वरदास ने बताया श्रमदान के दूसरे दिन महामंडलेश्वर अतुलेशानंद महाराज गोवर्धन सागर पहुंचे और श्रमदान किया। विधायक पारस जैन दिनभर श्रमदानियों की हौसला अफजाई करते रहे। घास निकालने के लिए डोंगियों की आवश्यकता पड़ी तो गुर्जर गौड़ ब्राह्मण समाज महिला संघ की राष्ट्रीय अध्यक्ष माया त्रिवेदी ने तत्काल दो डोगियां खरीदकर दी। सागर में जमा काई निकालने के लिए लोहे की कड़ियों और रस्सियों की आवश्यकता होने पर भाजपा नेता मुकेश जोशी ने तत्काल इंतजाम कराया। समाजसेवी ओम भाटी के सहयोग से पूरे दिन जेसीबी मशीन सफाई में लगी रही। शीतला माता मंदिर समिति के कमल कौशल,राजेंद्र चौहान व उनकी टीम ने श्रमदान कर रहे लोगों के लिए चाय नाश्ते का इंतजाम किया। समाजसेवी जितेंद्र कुमावत ने पुनरोद्धार कार्य से प्रभावित होकर अपने परिवार की ओर से 11 हजार रुपये दान किए। सागर के किनारे शेड लगाकर मूर्तियों का निर्माण करने वाले मूर्तिकार ने अपनी स्वेच्छा से शेड हटा लिया। दूसरे दिन सागर के उत्तरी छोर पर गणेश टेकरी की ओर से भी घास व काई निकालने का काम शुरू कर दिया गया है। महंत विशालदास, महंत रामशरणदास, महंत राघवेंद्र दास सहित रामादल अखाड़ा परिषद् के साधु संतों ने शहरवासियों से इस पुनित कार्य में सहयोग प्रदान करने का आह्वान किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local