उज्जैन। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में आम दर्शनार्थी गर्भगृह में जाकर भगवान महाकाल का अभिषेक कर सकेंगे। मंदिर समिति बुधवार सुबह से नई दर्शन व्यवस्था लागू करने जा रही है। खास बात यह है कि प्रोटोकॉल के लिए आरिक्षत समय में भी वीआईपी की संख्या कम होने पर समान्य दर्शनार्थियों को गर्भगृह में प्रवेश दिया जाएगा।

मंदिर प्रशासक सुजानसिंह रावत ने बताया मंदिर में नई दर्शन व्यवस्था आम दर्शनार्थियों को केंद्र में रखकर बनाई गई है। भस्मारती के बाद सुबह 6 बजे से समान्य दर्शनार्थियों को गर्भगृह से भगवान महाकाल के दर्शन कराए जाएंगे। भक्त सुविधा से भीतर जाकर भगवान का जलाभिषेक कर सकेंगे।

बता दें सोमवार शाम इंदौर में प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने कलेक्टर शशांक मिश्र, प्रशासक सुजानसिंह रावत तथा मंदिर के पुजारी,पुरोहित की बैठक में नई दर्शन व्यवस्था को हरी झंडी दी थी। इसके बाद बुधवार से यह व्यवस्था लागू हो रही है।

प्रोटोकॉल के लिए पहले कराना होगी बुकिंग

मंदिर में प्रतिदिन सुबह 7.45 से 9.45 बजे तक तथा दोपहर में 2 से 4 बजे तक प्रोटोकॉल के तहत वीआईपी दर्शन का समय तय किया गया है। इस दौरान 1500 रुपए के अभिषेक की रसीद पर भक्त गर्भगृह से दर्शन कर सकते हैं।

प्रशासक रावत ने बताया नई व्यवस्था में 1500 रुपए की रसीद मंदिर समिति काटेगी। इसलिए प्रोटोकॉल के लिए पहले बुकिंग कराना होगी। वीआईपी की संख्या के मान से अभिषेक की रसीद काटी जाएगी। अगर आरक्षित समय में वीआईपी की संख्या कम रहती है, तो आम दर्शनार्थियों को गर्भगृह से दर्शन कराएंगे।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket