नागदा जं. (उज्जैन) (नईदुनिया न्यूज)।Coronavirus in Madhya Pradesh : कोरोना वायरस के लिए फिलहाल कोई टीका नहीं बनाया। इस बीच नागदा के व्यक्ति ने एसडीएम को पत्र सौंपकर प्रस्ताव दिया है कि वह टीके के परीक्षण के लिए अपना शरीर देने के लिए तैयार है।

कोरोना वायरस के टीके को अपने शरीर पर टेस्ट करने की सहमति दी

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार 62 वर्षीय रमेशचंद्र पिता लालचंद्र जैन निवासी राम कॉलोनी ने कोरोना वायरस के टीके को अपने शरीर पर टेस्ट करने की सहमति दी है।

अपना देश भी कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहा

बताया जाता है कि सामाजिक कार्यकर्ता जैन ने सोमवार को एसडीएम आरपी वर्मा को पत्र सौंपते हुए कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में कई देशों के साथ अपना देश भी कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहा है। संकट की घड़ी में देश का हर नागरिक अपनी-अपनी हैसियत के अनुसार देश के साथ खड़ा है।

आर्थिक रूप से तो कोई मदद नहीं कर सकते

जैन का इस संबंध में कहना है कि वे आर्थिक रूप से तो कोई मदद नहीं कर सकते, किंतु देश के किसी वैज्ञानिक अथवा डॉक्टर को टीके के परीक्षण के लिए शरीर की जरूरत होती है तो वे देने के लिए तैयार हैं।

जरूरतमंद को दे चुके हैं किडनी

बता दें कि समाजसेवी जैन ने 14 नवंबर 2018 को कोलकाता में जरूरतमंद युवती दीप्ति शाह को किडनी दी थी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना