उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में सूदखोरों से परेशान होकर खुदकुशी करने के मामले बढ़ते जा रहे हैं।बीते एक वर्ष में 10 लोगों ने सूदखोरों से तंग आकर अपनी जान दे दी है। कई मामले सुर्खियों में भी रहे।पुलिस ने कुछ दिनों के लिए मुहिम भी चलाई, जो ज्यादा दिन नहीं चली। ऐसे मामलों में पुलिस केवल केस दर्ज कर लेती है। कई केस में आरोपितों की गिरफ्तारी तक नहीं हो पाती। इसलिए सूदखोरी जैसा धंधा करने वाले लोगों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं। पुलिस का कहना है कि लोग अपनी जान देने के बजाए समय पर शिकायत करें तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि शहर में सूदखोर 10 से 20 फीसद महीने पर रुपये चला रहे हैं। जरूरतमंद लोग ऊंचे ब्याज पर रुपये ले तो लेते हैं, मगर चुका नहीं पाते। ऊंचे ब्याज के कारण राशि दोगुनी-तिगुनी हो जाती है। रुपये नहीं लौटा पर ब्याजखोर लोगों को धमकी देते हैं। घर आकर प्रताड़ित करते हैं। इस कारण पीड़ित व्यक्ति आत्महत्या कर रहे हैं।

यह मामले रहे चर्चित

-सितंबर 2020 को फोटोग्राफर नीलेश शेल्के ने सूदखोरों के कारण तंग आकर बड़नगर रोड पर धरमबड़ला पर जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने मामले में भाजपा के दौलतगंज मंडल अध्यक्ष दिग्विजय चौहान, रणदीप मक्कड़, अतुल गेहलोत, समीर व महू निवासी विजय के खिलाफ केस दर्ज किया था।

- 10 अक्टूबर 2020 को दवा व्यवसायी प्रवीण चौहान ने सूदखोरों से परेशान होकर नृसिंह घाट पुल से शिप्रा नदी में कूदकर खुदकुशी कर ली थी। इसके बाद 12 अक्टूबर को उसके छोटे भाई पीयूष चौहान ने भी नृसिंह घाट पुल से शिप्रा नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली थी। मामला काफी दिनों तक सुर्खियों में बना था।

- चार फरवरी 2021 को उज्जैन विकास प्राधिकरण कर्मचारी विजय चौधरी ने सूदखोर पप्पू मरमट व पप्पू धाकड़ से परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी।

- 23 अगस्त 2021 को विवेकानंद कालोनी निवासी प्रशांत तिवारी ने अपनी डेयरी में ही फांसी लगा ली थी। सुसाइड नोट व स्वजन के बयान के आधार पर पुलिस ने उत्सव प्रतीक गौतम, मयूर सहगल, दिनेश जोशी निवासी विवेकानंद कालोनी के खिलाफ केस दर्ज किया था।

- 30 सितंबर को भैरवगढ़ निवासी ईश्वर मालवीय ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली थी। ईश्वर को सूदखोर धमकाने पहुंचा था। फोटो व बाइक नंबर का फोटो ईश्वर के मूक-बधिर पुत्र ने मोबाइल से ले लिया था। सूदखोर 20 हजार के एवज में 60 हजार रुपये मांग रहे थे।

- 8 अक्टूबर को फव्वारा चौक स्थित ट्रांसपोर्ट कारोबारी सुधीर कुमार जैन के पुत्र लवनेश उम्र 22 वर्ष ने लाखों रुपये के कर्ज के कारण जहरीला पदार्थ खाकर खुदकुशी कर ली थी। जांच में सामने आया है कि सूदखोरों को लवनेश 20 लाख रुपये दे चुका था। अब भी उससे 22 लाख रुपये की मांग की जा रही थी। इसके लिए सूदखोरों ने मृतक का मकान गिरवी रखने के कागजात तैयार करवा लिए थे। मृतक के स्वजन ने भव्य, शालीन, शुभम व दो अन्य लोगों के नाम पुलिस को बताए हैं। खाराकुआं पुलिस ने अब तक केस दर्ज नहीं किया है।

निडर होकर शिकायत करें

सूदखोरों के कारण कोई परेशान है तो वह निडर होकर संबंधित पुलिस थाने में शिकायत करें, तत्काल उसकी शिकायत पर एक्शन लिया जाएगा। पूर्व में भी कई सूदखोरों पर केस दर्ज किया गया है।

-अमरेंद्र सिंह, एएसपी, उज्जैन

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local