Dol Gyaras 2020 : उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कालभैरव मंदिर से डोल ग्यारस पर शनिवार को निकलने वाली बाबा कालभैरव की सवारी में इस बार केवल रस्म निभाई जाएगी। कोरोना संक्रमण के कारण प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। परंपरा निभाने के लिए शाम चार बजे मंदिर के सभा मंडप में कलेक्टर आशीष सिंह बाबा कालभैरव के मुखारविंद का पूजन करेंगे। पश्चात कहार पालकी को कंधे पर उठाकर मुख्य द्वार तक लाएंगे। इसके बाद सवारी फिर से मंदिर के भीतर लौट जाएगी।

पुजारी भगवान की पादुका को कार में रखकर शिप्रा के सिद्घवट घाट ले जाएंगे। ऐसा पहली बार हो रहा है कि बाबा कालभैरव नगर भ्रमण पर नहीं निकलेंगे। मंदिर के पुजारी पं. धर्मेंद्र चतुर्वेदी ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण प्रशासन ने भीड़ नियंत्रण की दृष्टि से यह कदम उठाया है।

बावजूद इसके पूजन व सवारी की परंपरा को धार्मिक महत्व के अनुसार निभाया जाएगा। इस बार मुख्य द्वार से पालकी फिर से भीतर लाई जाएगी। इसके बाद पालकी में विराजित भगवान कालभैरव की चांदी की पादुकाओं को कार में रखकर मोक्षदायिनी शिप्रा के सिद्घवट घाट ले जाएंगे। यहां परंपरा अनुसार ही पूजा अर्चना होगी। साल में दो बार नगर भ्रमण पर निकलते हैं सेनापति कालभैरव मंदिर से साल में दो बार कालभैरव नगर भ्रमण के लिए निकलते हैं।

पहली सवारी अगहन मास के शुक्ल पक्ष की भैरव अष्टमी के अगले दिन तथा दूसरी सवारी डोलग्यारस पर निकलती है। इस दिन मंदिर में भगवान कालभैरव का महाअभिषेक कर पूजा अर्चना की जाती है। भगवान को सिंधिया राजवंश की ओर से भेजी गई शाही पगड़ी धारण कराई जाती है।

ग्वालियर से आई पगड़ी अर्पित करेंगे

सिंधिया राजवंश की ओर से भगवान कालभैरव के लिए शुक्रवार को शाही पगड़ी उज्जैन पहुंची है। महाकाल मंदिर के पं.संजय पुजारी ने बताया ग्वालियर राजमहल के जिम्मेदार अधिकारियों ने शुक्रवार को उन्हें शाही पगड़ी सौंपी है। शनिवार को दोपहर 3 बजे वे शाही पगड़ी लेकर कालभैरव मंदिर जाएंगे तथा कालभैरव मंदिर के पुजारियों को पगड़ी सौंपेंगे। पूजन के समय कलेक्टर आशीषसिंह शाही पगड़ी भगवान को धारण कराएंगे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020