उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में रविवार दोपहर 12 बजे राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे। महामहिम के स्वागत में राजा के आंगन को फूलों से सजाया गया है। सुरक्षा के भी चाकचौबंद इंतजाम किए गए हैं। मंदिर प्रशासन के अनुसार रविवार दोपहर 12 बजे से 12..45 बजे तक भक्तों का मंदिर में प्रवेश बंद रहेगा। सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक सशुल्क दर्शन व्यवस्था भी बंद रहेगी।

राष्ट्रपति सुबह 11.50 बजे महाकाल मंदिर पहुंचेंगे। मंदिर के निर्माल्य द्वार से राष्ट्रपति का वाहन जूना महाकाल परिसर में प्रवेश करेगा। वाहन से उतरने के बाद राष्ट्रपति परिसर स्थित महानिर्वाणी अखाड़े पहुंचेंगे।गादीपति महंत विनित गिरी महाराज द्वारा राष्ट्रपति की अगवानी की जाएगी। अखाड़े में राष्ट्रपति के लिए ग्रीन रूम बनाया गया है। राष्ट्रपति करीब 10 मिनट यहां ठहरेंगे। ग्रीन रूप में राष्ट्रपति के वस्त्र बदलने के इंतजाम भी रहेंगे। बताया जाता है राष्ट्रपति मंदिर की परंपरा अनुसार सोला (धोती) पहनकर भगवान महाकाल के दर्शन पूजन कर सकते हैं।

निर्गम द्वार के समीप दो विजिटर रूम

महाकाल दर्शन के दौरान राष्ट्रपति के साथ मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल तथा मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी रहेंगे। दोनों अतिथियों के लिए निर्गम द्वार के समीप विशेष कक्ष भी बनाए गए हैं।

अत्याधुनिक चिकित्सा कक्ष बनाया

अतिविशिष्ट अतिथियों के मंदिर आगमन पर चिकित्सा व्यवस्था भी माकूल रहेगी। शनिवार को जूना महाकाल मंदिर परिसर में महानिर्वाणी अखाड़ा भवन के समीप अत्याधुनिक चिकित्सा कक्ष का निर्माण किया गया है। इसमें जीवन रक्षक चिकित्सा उपकरणों के साथ दवाइयों का इंतजाम रहेगा। वरिष्ठ चिकित्सकों का दल तथा पेरामेडिकल स्टाफ की एक पूरी टीम यहां मौजूद रहेगी। आधुनिक उपकरणों से लेस एंबुलेंस को भी मंदिर के समीप तैनात किया जाएगा।

मिनट टू मिनट रिहर्सल हुई

शनिवार देश शाम प्रशासन, पुलिस तथा दिल्ली से आए अधिकारियों ने मंदिर में मिनट टू मिनट रिहर्सल की। महानिर्वाणी अखाड़े से रिहर्सल की शुरुआत की गई। इसके बाद अधिकारियों ने राष्ट्रपति को जिस मार्ग से मंदिर के भीतर ले जाया जाएगा, उसका निरीक्षण कर अन्य व्यवस्थाओं को देखा। रिहर्सल के दौरान किसी को भी प्रवेश नहीं दिया गया।

शासकीय पुजारी कराएंगे पूजन

बताया जाता है शासकीय पुजारी पं.घनश्याम शर्मा अपने सहयोगी के साथ राष्ट्रपति को पूजन कराएंगे। गर्भगृह के तीन पाट पर तीन पुजारी वंश परंपरा अनुसार मौजूद रहेंगे।

मोबाइल, बैग ले जाना प्रतिबंधित

महाकाल दर्शन करने वाले श्रद्धालु अपने साथ मोबाइल, बैग, झोला आदि वस्तुएं नहीं ले जा सकेंगे। रविवार को सुबह 6 बजे से दोपहर 1 बजे तक इन वस्तुओं को भीतर ले जाने पर सख्त प्रतिबंध रहेगा।

चार नंबर गेट से मिलेगा भक्तों को प्रवेश

मंदिर प्रशासन ने रविवार सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक 1500 रुपये की रसीद पर गर्भगृह में प्रवेश तथा 250 रुपये की शीघ्र दर्शन टिकट पर प्रवेश की व्यवस्था बंद कर दी है। केवल सामान्य दर्शनार्थियों को गेट नंबर 4 से निशुल्क प्रवेश की व्यवस्था रहेगी। दर्शनार्थी 4 नंबर गेट से मार्बल गलियारा होते हुए कार्तिकेय मंडपम् से भगवान के दर्शन करेंगे। इसके बाद इसी मार्ग से मंदिर के बाहर प्रस्थान करेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close