उज्जैन। हकीमी मोहल्ले में बोहरा समाज के विवाह समारोह में खाना खाने के बाद 60 लोग बीमार हो गए। सभी को जिला और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया। प्राथमिक उपचार के बाद 30 की छुट्टी कर दी गई। मगर दो की हालत गंभीर होने पर उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है। जिला अस्पताल में इलाज के दौरान समाज की ही एक महिला की मौत भी हो गई। हालांकि डॉक्टरों का कहना था कि महिला की मौत हार्ट अटैक से हुई है। फूड पॉयजनिंग से नहीं। महिला कुवैत से शादी में शामिल होने आई थी। इधर फूड पॉयजनिंग की सूचना मिलने पर एडीएम व अन्य अधिकारी अस्पताल पहुंचे। चिकित्सकों की इमरजेंसी ड्यूटी भी लगाई गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हकीमी मोहल्ला में असगर भाई खाचरोद वाले की बेटी की शादी थी। नलखेड़ा (आगर) से बारात आई थी। गुरुवार रात को जमातखाना में दावतनामा था। विवाह समारोह में वर-वधू पक्ष के करीब 400 लोगों ने भोजन किया। भोजन के बाद ही कुछ लोगों को उल्टी दस्त होने लगे थे। शुक्रवार सुबह कुछ लोग जिला अस्पताल पहुंचे। शाम तक संख्या और बढ़ गई। वहीं बुधवारिया स्थित चेरिटेबल अस्पताल में भी कई लोग पहुंचे। शाम तक कुल 60 लोगों का उपचार किया गया। इनमें से दो की हालत गंभीर होने पर उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है।

चिकन के साथ लिया था सीताफल का सूल्फा : डॉक्टरों के अनुसार फूड पॉयजनिंग का शिकार हुए लोगों ने बताया कि उन्होंने दावत में चिकन के साथ सीताफल का सूल्फा लिया था। आशंका जताई जा रही है कि इसी कारण लोगों की तबीयत बिगड़ी। प्रशासन की टीम ने शादी के खाने के सैंपल लेने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। सिविल सर्जन डॉ.आरपी परमार के अनुसार विषाक्त भोजन प्रभावितों का उचित उपचार किया जा रहा है।

कुवैत से आई थी शादी में शामिल होने : जिला अस्पताल में समाज की अतिका बहन 62 साल निवासी कुवैत की आईसीयू में मौत हो गई। उन्होंने ने भी शादी में खाना गया था। हालांकि डॉक्टरों के अनुसार उनकी मौत फूज पॉयजनिंग से नहीं, बल्कि हार्ट अटैक से हुई है। महिला कुवैत से शादी में शामिल होने आई थी। सिविल सर्जन ने इसकी पुष्टि की। सैफुद्दीन (26) सहित एक अन्य गंभीर आईसीयू में भर्ती हैं। बारात से नलखेड़ा लौटे कुछ अन्य समाजजनों ने वहां के स्थानीय अस्पताल में इलाज कराया है।

स्थिति नियंत्रण में : सूचना मिलने पर शुक्रवार रात एडीएम आरपी तिवारी जिला अस्पताल पहुंचे। तिवारी ने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। बीमारों को उचित इलाज दिया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network