Ganesh Chaturthi 2020 : राजेश वर्मा, उज्‍जैन। (नईदुनिया)। गणेशोत्सव की शुरुआत शनिवार से हो रही है। कोरोना काल होने से इस बार सार्वजनिक आयोजन पर रोक है। मंदिरों में भी सीमित आयोजन होंगे। शहर के प्रसिद्ध चिंतामन गणेश आदि मंदिरों में श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचेंगे। कोरोना संकटकाल में विघ्नहर्ता की स्थापना कब और कैसी की जाए, किसी विधि से पूजन करें कि गणपति शीघ्र प्रसन्न हों, भक्तों के मन में यह प्रश्न उठ रहे हैं। इन्हीं सब प्रश्नों को लेकर 'नईदुनिया" ने ज्योतिषाचार्य पं. अमर डब्बावाला से चर्चा की।

स्थापना के शुभ मुहूर्त

गणेश चतुर्थी पर शनिवार के दिन हस्त नक्षत्र का संयोग रहेगा। ज्योतिषाचार्य पं. डब्बवाला के अनुसार भगवान गणपति स्वयं सिद्ध मुहूर्त हैं, इसलिए गणपति की स्थापना के लिए मुहूर्त देखने की आवश्यकता नहीं है। फिर भी जो भक्त मुहूर्त के अनुसार गणपति की स्थापना करना चाहते हैं, वे सुबह 7.30 से 9 बजे तक शुभ, दोपहर 12 से 1.30 बजे तक चंचल, दोपहर 1.30 से दोपहर 3 बजे तक लाभ तथा दोपहर 3.00 से शाम 4.30 बजे तक अमृत के चौघड़िए में स्थापना कर सकते हैं। यह समय भगवान गणेश की स्थापना के लिए श्रेष्ठ है।

इन मूर्तियों की करें स्थापना : गृहस्थ भगवान गणेश के दाहिने हाथ की ओर सूंड वाली तथा व्यापारी प्रतिष्ठानों में गणपति के बाएं हाथ की ओर सूंड वाली मूर्ति की स्थापना करें। घरों में भगवान गणेश की सफेद, केसरिया, नारंगी रंग की मूर्ति तथा प्रतिष्ठानों में नीला, सुनहरा जामुनी, खरबूजा पीला तथा चमकीले सफेद रंग की मूर्ति स्थापित करना चाहिए।

ऐसे करें आराधना

गृहस्थ के लिए श्री गणेश स्त्रोत, संकटनाशय गणेश स्तोत्र तथा गणेश सहस्त्रनामावली से भगवान गणेश की आराधना करना श्रेष्ठ माना गया है। वहीं व्यापारियों के लिए लक्ष्मी प्रदाता गणेश स्त्रोत तथा गणेश पंचरत्न स्त्रोत का पाठ प्रगति देने वाला बताया गया है।

पूजन में यह विशेष

भगवान गणेश को दुर्वा, गुड़-धन‍िया व गुड़हल के पुष्प प्रिय हैं। पूजा में दस दिन तक नित्य इनका उपयोग गृहस्थ व व्यापारी दोनों को करना चाहिए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020