उज्जैन। 15 दिसंबर को अस्त हुए गुरु यानि बृहस्‍पति शुक्रवार रात 8.25 पर उदय हो गए हैं। गुरु के उदय होते ही विभिन्न् राशि के जातकों को राहत का अनुभव होगा। जो लोग लंबे समय से ऋण से परेशान थे उनका ऋण उतरेगा तथा परेशानियां दूर होंगी। 28 जनवरी 2021को गुरु के पुन: अस्त होने तक समय अनुकूल रहेगा।

शुभ मांगलिक कार्यों की गति बढ़ेगी

इस संबंध में शहर के ज्योतिषाचार्य पं.अमर डब्बावाला ने बताया मान्यता है कि गुरु के उदय होते ही शुभ मांगलिक कार्यों की गति बढ़ेगी।

अनाज, दलहन, तिलहन की बंपर पैदावार होगी

पं.अमर डब्बावाला ने बताया कि कृषि के लिए गुरु का उदय अनुकूल रहेगा। उनके अनुसार अनाज, दलहन, तिलहन की बंपर पैदावार होगी। धर्म आध्यात्म के क्षेत्र में उत्तरोत्तर उन्न्ति की गति निर्मित होगी। 28 जनवरी 2021 को गुरु के फिर से अस्त होंगे। इस बिच उनका अतिचारी क्रम भी बनेगा।

किस राशि पर कैसा रहेगा प्रभाव

मेष : कार्य में प्रगति व भाग्योन्नति होगी।

वृषभ : पुरानी संपत्ति के योग तथा रहस्मयी ज्ञान की प्राप्ति होगी।

मिथुन : धन की प्राप्ति के साथ बाहरी यात्रा के योग बनेंगे।

कर्क : अस्थिरता से तनाव व धर्म की अनुकूलता।

सिंह : संपत्ति में वृद्धि होगी तथा अटका धन प्राप्त होगा।

कन्या : मित्र तथा संबंधियों के माध्यम से सफलता।

तुला : आर्थिक लाभ व नए व्यापार की शुरुआत होगी।

वृश्चिक : कर्जा उतरेगा व परेशानी दूर होगी।

धनु : नई जिम्मेदारियों के साथ कार्य का श्री गणेश।

मकर : अस्थिरता से विचलन बढ़ेगा, ज्यादा सोचने से बचे।

कुंभ : सपंत्ति के विवादों का निपटारा होगा।

मीन : मांगलिक कार्य तथा धार्मिक यात्रा के योग।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket