उज्जैन। हनी ट्रैप मामले में प्रदेश के लोक निर्माण व जिले के प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने कहा कि महिलाओं के माध्यम से कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है। किसी का नाम लिए बगैर विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि कुछ ऐसे तत्व हैं, जो सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने मंत्रियों, विधायकों और बड़े अधिकारियों के पीछे महिलाओं को छोड़ा है।

शनिवार को शहर में आयोजित पंचायत सम्मेलन में शिरकत करने आए मंत्री वर्मा ने कहा कि सामाजिक वातावरण को दूषित करने वाला भले ही किसी भी स्तर का हो उसे छोड़ा नहीं जाना चाहिए। ऐसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए, जिससे कि समाज में अच्छा संदेश भी जाए।

हनी ट्रैप मामले से पूरे प्रदेश में हलचल मची हुई है। ऐसे में मंत्री वर्मा ने सरकार गिराने की साजिश की आशंका जताकर मामले को गरमा दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का सामाजिक वातावरण अच्छा रहना चाहिए।

वे गोडसे की विचारधारा के हैं, उन्हें आंबेडकर के विचार पसंद नहीं

जिला मुख्यालय के पास शुक्रवार को संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा रात के समय गिराने की घटना के मामले में भी मंत्री वर्मा ने विपक्ष पर प्रहार करने का मौका नहीं छोड़ा। इशारों में बोले-जगह-जगह षड्यंत्र कर लोगों को उत्तेजित किया जा रहा है।

ये लोग गोडसे की विचारधारा के हैं, जिन्हें आंबेडकर की विचारधारा पसंद नहीं। प्रभारी मंत्री कोठी पैलेस के पास उस स्थान पर भी पहुंचे, जहां डॉ. आंबेडकर की स्थापित प्रतिमा अज्ञात तत्वों द्वारा गिराई गई थी। उन्होंने कहा प्रशासन द्वारा प्रतिमा स्थल के आसपास सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं और बाउंड्रीवाल भी बनाई जाएगी।