उज्जौन (नईदुनिया प्रतिनिधि), Janata curfew in Ujjain। जनता कर्फ्यू में शुक्रवार को प्रशासन ने कुछ ढील दी तो लोग सड़क पर उतर आए। इससे पुलिस की परेशानी बड़ गई। कई जगहों पर उन्हें लाठियां तक भांजना पड़ी। इधर, प्रतिबंध के बावजूद कुछ लोग सुबह झोला लटकाए मंडी में खैचरी में सब्जी खरीदने पहुंच गए। नगर निगम कर्मियों ने जब इनसे सब्जी की थैलियां छिनी तो वे नाराज हुए। एक विशेष वर्ग की महिला ने तो नगर निगम आयुक्त क्षितिज सिंघल को आम आदमी समझकर उनसे विवाद भी किया। हालांकि कुछ देर में गलती समझ आने पर मामला शांत हो गया।

बता दे कि राशन और फल-सब्जी को लेकर लोगों की परेशानी का निदान करने के लिए प्रशासन ने शुक्रवार को सुबह 6 से 9 बजे तक थोक फल-सब्जी मंडी खोलने और चलित ठेलों के माध्यम से 11 बजे तक फल-सब्जी कालोनी-कालोनी बेचनी की अनुमति प्रदान की थी। राशन आनलाइन या टेलिकान्फ्रेसिंग के जरिये घर पहुंचाने की सुविधा भी प्रारंभ की थी। इसके चलते कल तक सुनसान रही सड़कों पर शुक्रवार सुबह से ही लोगों का दबाव बढ; गया। हद तो यह हो गई कि सस्ते फल-सब्जी मिलने के च-र में कई लोग थोक फल-सब्जी मंडी में झोला लटकाए पहुंच गए। हालातों का निरीक्षण करने पहुंच नगर निगम आयुक्त ने जब यह नजारा देखा तो इनसे थैलियां छीन लेने को कहा। इस पर कुछ नाराज हुए। एक महिला ने तो विवाद कर लिया। हालांकि बाद में कोरोना संक्रमण की लहर कितनी खतरनाक है और प्रशासन इतने सख्त कदम क्यों उठा रहा है, समझाने के बाद महिला शांत हो गई और घर लौट गई। इधर, जिन ठेलेवालों ने मंडी में ही या शहर की गलियों में खड़े रहकर फल-सब्जी बेचने की कोशिश की, उन्हें पुलिस ने समझाया कि वे एक जगह खड़े न रहे। कुछ जगह हल्का बल भी प्रयोग करना पड़ा। इधर, जो नजारा सब्जी मंडी में था वही नजारा दौलतगंज होलसेल किराना बाजार में भी रहा। यहां भी कई लोग सामान सस्ता मिलने के च-र में आए गए। जबकि अनुमति खैरची व्यापारियों को ही सामान बेचने को दी थी।

फोटो कैप्शन 1- मंडी एक जगह ठेला खड़ा कर सब्जी बेच रहे व्यवसायी को लाठी भांजकर पुलिस ने भगाया।

फोटो कैप्शन 2- मंडी में खैरची में सब्जी खरीदने आई एक विशेष वर्ग की महिला से जब निगमकर्मियों ने सब्जी की थैली छिन ली तो महिला ने नगर निगम आयुक्त को आम आदमी समझ विवाद किया।

100-100 बेड के दो कोविड केयर सेंटरों का लोकार्पण, बेड की समस्या हुई खत्म

सामाजिक सहयोग से यहां कोरोना संदिग्ध मरीजों के इलाज के लिए इंदौर रोड स्थित प्रशांति गार्डन और मक्सी रोड स्थित पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में शुक्रवार को कोविड केयर सेंटर का लोकार्पण कर दिया गया। दोनों सेंटर 100-100 बेड के हैं, जहां पहले दिन कुछ मरीज भर्ती भी किए गए। बताया कि इन्हें बेहतर इलाज के साथ पौष्टिक आहार भी दिया जाएगा। लोकार्पण समारोह के अतिथि उधा शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव, सांसद अनिल फिरोजिया, विधायक पारस जैन थे। कहा गया कि अगले चरण में यहां जरूरत पड़े पर आक्सीजन बेड भी बढ;ाए जाएंगे। बता दे कि प्रशांति गार्डन में कोविड केयर सेंटर, यहां के एक कर सलाहकार पिता-पुत्र, लखनलाल अवनीश गुप्ता ने खोला है। उनका कहना है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में मरीजों की संख्या तेजी से बढ;ने के कारण अस्पतालों में बेड की संख्या कम पड़ रही थी। इस समस्या से पार पाने के लिए कोरोना संदिग्ध या कम लक्षण वाले मरीजों के इलाज के लिए कोविड केयर सेंटर खोल दिया।

भर्ती होने को इन्हें करें काल

पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर पंजीयन के लिए मोबाइल नंबर 9329446673 लैंड लाइन नंबर 07342507222 पर।

वहीं प्रशांति गार्डन में मोबाइल नंबर जितेंद्र आचार्य-9171985673 और राहुल पंड्या 9893166456 पर।

ऐसे मरीज पहुंचेंगे कोविड केयर सेंटर

दोनों ही सेंटरों में कोरोना संदिग्ध उन मरीजों को भर्ती किया जाएगा, जिन्हें चरक, आरडी गार्डी या माधवनगर अस्पताल से रेफर किया जाएगा। यानी कोई भी मरीज सीधे खुद ही इन सेंटरों पर भर्ती नहीं हो सकेंगे। उसे सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों को दिखाना होगा, वहां से उनके लक्षण के आधार पर मरीजों को रेफर किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags