उज्जैन। श्रीकृष्ण मंदिरों में जन्माष्टमी की तैयारी जोरो पर है। इस बार भगवान की पोशाक को लेकर खासा उत्साह नजर आ रहा है। इस्कॉन मंदिर में पश्चिम बंगाल से आए कारीगर कान्हा के लिए विशेष पोशाक तैयार कर रहे हैं। इसकी कीमत करीब 3 लाख रुपए बताई जा रही है। वहीं सिंधिया देव स्थान ट्रस्ट के प्रसिद्घ गोपाल मंदिर में भगवान के लिए मथुरा से ड्रेस मंगवाई गई है। श्रृंगार के लिए रतलाम के स्वर्णकारों से चांदी का विशेष मुकुट भी बनवाया है।

इस्कॉन मंदिर के पीआरओ राघव पंडित दास ने बताया भगवान राधा मदन मोहन के लिए निमाई सुंदर प्रभु व पंकज नेत्र प्रभु के निर्देशन में कारीगर विशेष पोशाक बना रहे हैं। रेशमी वस्त्र पर डायमंड से अद्भुत कारीगरी की जा रही है। वस्त्र निर्माण में उपयोग होने वाली अधिकांश सामग्री जापान व आस्ट्रेलिया से मंगवाई है। दिल्ली व मुंबई से मंगवाए गए खास धागों से कढ़ाई का काम किया जा रहा है। आधा दर्जन से अधिक कारीगर बीते डेढ़ माह से पोशाक बनाने में जुटे हैं। 24 अगस्त को जन्माष्टमी पर भगवान यही कीमती पोशाक पहनेंगे।

वैजयंती माला पहनेंगे गोपालजी

गोपाल मंदिर में 23 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जाएगी। पुजारी अर्पित जोशी ने बताया भगवान मथुरा से मंगवाई विशेष पोशाक तथा वैजयंती माला पहनेंगे। भगवान को वैजयंती माला विशेष प्रिय है। यह माला भी मथुरा से मंगवाई है। इसके अलावा रतलाम के स्वर्णकारों से चांदी का विशेष मुकुट बनवाया है। इसमें डायंमड और माणिक जड़े हुए हैं। 24 अगस्त को नंद उत्सव मनाया जाएगा इसमें नानीबाई के मायरे के वस्त्र के दर्शन होंगे। यशोदा माता की गोद में बाल गोपाल की झांकी विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगी।