बड़नगर। ग्राम कजलाना में चामला नदी पर बने डेम के गेट अभी तक बंद नहीं किए गए हैं। हर वर्ष 15 सितंबर तक गेट बंद कर दिए जाते हैं। इसके चलते भविष्य में जलसंकट का सामना करना पड़ सकता है।कृषक श्रीकृष्ण राणा बताते हैं कि हर वर्ष पहले ही डेम के गेट बंद कर दिए जाते हैं, लेकिन इस बार अभी तक गेट बंद नहीं करने का कारण समझ नहीं आ रहा है। वर्तमान में पानी ऊपर से नहीं, बल्कि डेम के गेट से बह रहा है। उल्लेखनीय है कि उक्त डेम में पानी भरा रहने के कारण आसपास के क्षेत्र में जलस्तर पर्याप्त रहता है। इस बार अभी तक गेट बंद नहीं करने के कारण प्रतिदिन पानी का बहाव हो रहा है। इस संबंध में पीएचई के कर्मचारी वाहिद कुरैशी का कहना है कि वर्तमान में पानी डेम के ऊपर से निकल रहा है, इसलिए गेट बंद नहीं किए गए हैं। हम प्रतिदिन वाच कर रहे हैं। भले ही अभी यहां पानी नहीं गिर रहा है, मगर दूसरे क्षेत्रों में गिरा हुआ बारिश का पानी नदी में लगातार आ रहा है। हर वर्ष अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में गेट बंद कर दिए जाते हैं।

गरबों की प्रस्तुति के बाद किया सम्मान

बड़नगर। सार्वजनिक नवदुर्गा महोत्सव समिति गांधी चौक द्वारा महाष्टमी के पावन पर्व पर महाआरती और रंगारंग गरबों के आयोजन के साथ सम्मान समारोह किया गया। मुख्य अतिथि विधायक मुरली मोरवाल, थाना प्रभारी मनीष मिश्रा, समाजसेवी संदीप खटोड़, संस्था सारथी के अध्यक्ष यादवेंद्र यादव तथा अभिभाषक संघ अध्यक्ष कमलेश असावरा उपस्थित हुए। अतिथियों द्वारा गरबा मंडल की कोरियोग्राफर आरती रहाणे, शर्मा साउंड के डायरेक्टर राजेश शर्मा व संयोग टेंट हाउस के संचालक घनश्याम प्रजापत का सम्मान किया गया। संचालन जयेश आचार्य ने किया। कार्यक्रम में समिति के प्रमुख सदस्य सचिन राजावत, प्रवीण राठौर केसरी, लालू राठौर, जीवन परमार, कुशल गेहलोत, संयम गोधा, संजय चावला, राहुल ठाकुर, अंशुल राठौर आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local