- 25 अगस्त को रखी कार्य परिषद की बैठक में मंजूरी मिलने का है इंतजार

- 10 साल में जब्त किए 150 से ज्यादा मोबाइल

उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। परीक्षा के दौरान विद्यार्थियों से जब तक किए मोबाइल जल्द ही विक्रम विश्वविद्यालय लौटाएगा। इंतजार सिर्फ कार्य परिषद की मंजूरी मिलने का है।

विक्रम विश्वविद्यालय परीक्षा के दौरान नकल में उपयोग की गई समस्त सामग्री जप्त करता है। जब्ती के बाद यह सामग्री संबंधित विद्यार्थियों को लौटाए जाने का कोई प्राविधान अब तक नहीं है। ऐसे में जब्त की गई सामग्री संभालना विश्वविद्यालय के लिए मुश्किल हो रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार विश्वविद्यालय ने बीते एक दशक में अपनी परीक्षाओं के दौरान 150 से अधिक मोबाइल विद्यार्थियों से जब्त किए। सभी मोबाइल एक बड़े थैले में गोपनीय शाखा में रखे गए हैं। सभी चलित अवस्था में है। कई मोबाइल कीमती हैं, ऐसे में इनके चोरी होने का अंदेशा भी बना रहता है। मामला मनोनीत कार्य परिषद सदस्यों के संज्ञान में आया तो उन्होंने विवि से चर्चा कर मोबाइल विद्यार्थियों को लौटाए जाने का प्रस्ताव तैयार कराया। कुछ दिन पहले हुई बैठक में कार्यपरिषद सदस्यों ने नए प्रस्तावों पर चर्चा न कर के पुराने निर्णयों को अमल में लाने पर लंबी चर्चा की थी। ऐसे में यह प्रस्ताव पास नहीं हो सका। अब 25 अगस्त को कार्यपरिषद की बैठक है। इसमें यह प्रस्ताव पास होने की उम्मीद है।

बिल्व पत्र के पौधे रोपेगा विक्रम विवि

विक्रम विश्वविद्यालय इस वर्ष ज्योतिर्लिंग महाकाल भगवान को अर्पित किए जाने वाले पुष्प और बिल्वपत्र के पौधे रोपेगा। प्रमुख स्थानों पर रुद्राक्ष के पौधे भी लगाएगा। कार्य संस्कृति में सुधार के लिए पूरे साल अभियान चलाया जाएगा। महापुरुषों के सुविचार माधव प्रशासनिक भवन परिसर में तख्तियों पर लिखवाए जाएंगे। ताकि विद्यार्थियों समेत अफसर, कर्मचारियों एवम शिक्षकों को अपने अधिकारों के साथ कर्तव्य एवं दायित्व का भी बोध हो। इसकी शुरुआत संकल्प के साथ 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर कुलपति प्रो. अखिलेशकुमार पांडेय द्वारा की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close