Lokayukta Raid : उज्जैन। लोकायुक्त पुलिस ने बुधवार सुबह करीब 6 बजे सेठी नगर निवासी वरिष्ठ सहकारिता निरीक्षक निर्मल राय के घर आय से अधिक संपत्ति के मामले में छापा मारा। निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव ने बताया कि टीम के अधिकारियों ने निर्मल के परिजन से कहा कि यह सर्चिंग है, अगर आप सहयोग करेंगे तो ठीक से कार्रवाई होगी, अन्यथा सख्ती बरतना पड़ेगी। हालांकि घर के सदस्यों ने विरोध नहीं किया। निर्मल राय 40 साल से नौकरी कर रहे हैं। इतने वर्षों में उनका वेतन 80 से 90 लाख रुपए होना चाहिए। इसके विपरीत टीम को सर्चिंग में सेठीनगर में तीन मंजिला मकान के अलावा इंदौर के जूनी इंदौर क्षेत्र में एक फ्लैट, आगर रोड की दो कॉलोनियों में प्लॉट, 16 लाख रुपए कीमत की कार, चार दोपहिया वाहन, पौने दो सौ ग्राम सोने और 1 किलो चांदी के आभूषण की जानकारी हाथ लगी है।

इस संपत्ति की कीमत करोड़ों रुपए आकी जा रही है। इसके अलावा 8 बैंकों में खाते, अपेक्स बैंक और सहकारी बैंक में लॉकर के बारे में भी पता चला है। दोनों लॉकर गुरुवार को खोले जाएंगे। राय ने घर की तीसरी मंजिल छात्राओं को किराए पर दे रखी है। उसके किराए से प्रति माह 8 से 9 हजार रुपए आय होती है। एक विदेशी नस्ल का कुत्ता भी मिला है। घर की तीनों मंजिल पर 7 सीसीटीवी कैमरे लगा रखे हैं। जांच के दौरान टीम में 15 सोसायटी के दस्तावेज भी मिले हैं। राय के तीन पुत्र हैं। इनमें से एक पुणे में बैंक में टेक्निकल इंजीनियर है। दूसरा डॉक्टर है और बीते साल ही रीवा मेडिकल कॉलेज से पास आउट हुआ है। तीसरा पुत्र ऑर्किटेक्ट है। तीनों की पढ़ाई पर भी राय ने अच्छा खासा खर्च किया है।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket