Madhya Pradesh News : नईदुनिया, उज्जैन। महाकाल मंदिर परिसर से विकास दुबे के पकड़े जाने के बाद यहां की सुरक्षा व्यवस्था और चौकस कर दी गई है। हालांकि, यह पहला मामला नहीं है कि मंदिर परिसर से कोई गैंगस्टर पकड़ा गया हो।

27 अक्टूबर 2018 को दिल्ली के गैंगस्टर प्रवेश मान को भी महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया था। वह नीरज बवाना गैंग का सदस्य था। मुखबिर की सूचना पर स्थानीय सायबर सेल पुलिस ने मान को दबोचा था। बाद में उसे दिल्ली एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) के हवाले कर दिया गया था।

उस पर दिल्ली के अलग-अलग थानों में कई केस दर्ज थे। कानपुर के विकास दुबे के उज्जैन के महाकाल मंदिर में पकड़े जाने व उसके एनकाउंटर से शहर एक बार फिर सुर्खियों में है। यहां महाकाल मंदिर में प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु दर्शन के लिए आते हैं। ऐसे में यहां अपराधियों के आने की आशंका भी बनी रहती है।

शीघ्र दर्शन को टिकट खरीदने के लिए पहचान पत्र किया गया अनिवार्य

ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में शीघ्र दर्शन के लिए टिकट खरीदने के दौरान श्रद्घालुओं को पहचान-पत्र दिखाना अनिवार्य किया गया है। शुक्रवार से मंदिर में यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। भक्तों को मंदिर में प्रवेश देने से पहले पहचान-पत्र की जांच की जा रही है।

महाकाल मंदिर में कुछ समय पहले तक 250 रुपये की शीघ्र दर्शन टिकट खरीदने पर पहचान-पत्र दिखाने की अनिवार्यता थी। काउंटर कर्मचारी टिकट खरीदने वाले दर्शनार्थी का फोटो भी खींचते थे। इसका मंदिर से जुड़े कुछ लोगों ने विरोध किया था। इसके बाद नियमों में शिथिलता बरती जा रही थी। गुरुवार को गैंगस्टर विकास दुबे ने शंखद्वार स्थित रसीद काउंटर से 250 रुपये की शीघ्र दर्शन टिकट खरीदकर ही मंदिर में प्रवेश किया था, जिसके बाद व्यवस्था को लेकर सख्ती बरती जा रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020