Madhya Pradesh News: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। घट्टिया स्थित गैस प्लांट में गुरुवार दोपहर हादसा हो गया। प्लांट के गैस टैंक को पानी से साफ करने के दौरान एक कर्मचारी फिसलकर उसमें गिर गया, उसे बचाने के चक्कर में दूसरा कर्मचारी भी टैंक में गिर गया। देर शाम तक दोनों कर्मचारियों को टैंक से निकाला नहीं जा सका था, आखिर रात रात्रि 3:50 बजे मृतकों के शव निकाले जा सके। इसके बाद इन्‍हें एम्बुलेंस से पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया। एनडीआरएफ टीम ने शव निकाले।

ग्रामीण व दोनों कर्मचारियों के स्वजन प्लांट पर एकत्र हो गए थे। पुलिस व प्रशासन के अधिकारी भी पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार रात में ही इन कर्मचारियों की मौत हो गई थी। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया है।

एडीएम संतोष टैगोर,एसडीएम गोविन्द दुबे,एडिशनल एसपी आकाश भूरिया,थाना प्रभारी विक्रमसिंह चौहान,राघवी थाना प्रभारी रोहित पटेल,नायब तहसीलदार लोकेश चौहान सहित अन्‍य अधिकारी पूरे समय मौके पर मौजूद रहे। नागदा और गुना की विशेष टीम के साथ उज्जैन-इंदौर की एसडीआरएफ टीम सहित भोपाल से एनडीआरएफ टीम ने शवों को बाहर निकाला। इस दौरान खासी मशक्‍कत करनी पड़ी।

पुलिस ने बताया कि लाखन सिंह पुत्र भेरूसिंह निवासी ग्राम लाम्बीखेड़ी तथा राजेंद्रसिंह पुत्र शेरसिंह निवासी ग्राम जलवा घट्टिया स्थित गैस प्लांट पर काम करते है। बताया जा रहा है कि गुरुवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे लाखनसिंह प्लांट के एक टैंक में पानी डालकर उसे साफ कर रहा था।

उसी दौरान उसका पैर फिसला और वह टैंक में जाकर गिर गया, उसे बचाने के दौरान राजेंद्रसिंह भी गिर गया। दो कर्मचारियों के टैंक में गिरने की जानकारी मिलने के बाद सभी कर्मचारी वहां एकत्र हो गए थे। मामले की जानकारी पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों को दी गई। टीआइ विक्रमसिंह चौहान व एसडीएम गोविंद दुबे व अन्य अधिकारी पहुंच गए थे।

स्वजन व ग्रामीणों ने किया हंगामा

टैंक में दो कर्मचारियों के गिरने की सूचना पर उनके स्वजन व ग्रामीण प्लांट के बाहर एकत्र हो गए थे। अधिकारियों ने सारे गेट बंद कर दिए थे। इसको लेकर लोगों में खासा था। लोगों ने हंगामा किया तो टीआइ व अधिकारियों ने समझाइश दी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local