नागदा (उज्जैन)। दीपावली पर्व मनाने के लिए महाविद्यालय से छुट्टी लेकर गांव जा रहे छात्र की ट्रेन से गिरने से मौत हो गई। वह मोबाइल फोन गिरने पर उसे लेने के लिए चलती ट्रेन से उतरने का प्रयास कर रहा था।

छात्र का उतरते समय बैलेंस बिगड़ गया और उसका पांव पायदान में फंस गया

हादसे के वक्त हालांकि ट्रेन की गति कम थी लेकिन छात्र का उतरते समय बैलेंस बिगड़ गया और उसका पांव पायदान में फंस गया, जिससे वह लगभग 100 मीटर तक घिसटता हुआ चला गया।

यात्रियों ने चेन पुलिंग कर उसे उठाया

बाद में ट्रेन में सवार अन्य यात्रियों ने चेन पुलिंग कर उसे उठाया और शासकीय अस्पताल पहुंचाया जहां पर चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार 19 वर्ष वर्षीय बलराम पिता लीलाशंकर पाटीदार निवासी गांव बांगरौद जिला रतलाम शुक्रवार सुबह उज्जैन से पैंसेंजर ट्रेन से अपने गांव जा रहा था।

चंबल नदी के रेलवे ब्रिज के समीप छात्र का मोबाइल फोन गिर गया

जानकारी के अनुसार यह ट्रेन जैसे ही सुबह 9 बजे नागदा से रवाना हुई तो कुछ ही दूर पर चंबल नदी के रेलवे ब्रिज के समीप छात्र का मोबाइल फोन गिर गया। उसे उठाने के लिए उतरने के दौरान वह हादसे का शिकार हो गया।

छात्र के पास से मिले मोबाइल फोन से आखिरी डायल नंबर पर फोन किया तो वह नंबर उसकी बहन का था। इस तरह परिवार वालों को घटना की सूचना मिलने पर बलराम के मामा नागदा पहुंचे और पोस्टमॉर्टम के बाद शव को बांगरौद के लिए लेकर रवाना हो गए।

Posted By: Hemant Upadhyay