उज्जैन। Maha Shivaratri 2020 । विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में महाशिवरात्रि के लिए रात 2.30 बजे मंदिर के पट खुल गए। दर्शन का सिलसिला आज रात को 10.30 बजे तक शयन आरती तक जारी रहेगा। इस दौरान 43 घंटे भक्तों के लिए राजाधिराज का दरबार खुला रहेगा। मंदिर समिति ने भक्‍तों की सुविधा के लिए विशेष प्रबंध किए हैं। आज सुबह से भगवान महाकाल के दर्शन के लिए भक्तों की लंबी कतार लग गई। लंबी कतार को देखते हुए सुरक्षा प्रबंध के लिए अतिरिक्त पुलिस बल भी तैनात किया गया है।

गर्भगृह में भक्‍तों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा

महाकाल मंदिर समिति के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार मंदिर के गर्भगृह में भगवान महाकाल की पूजा अर्चना का क्रम चलता रहेगा। ज्यादा भीड़ को देखते हुए महाशिवरात्रि महापर्व पर मंदिर के गर्भगृह में भक्तों का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है।

जियो कंपनी ने लगाया अस्थाई टॉवर

वीआईपी तथा आम दर्शनार्थियों को एक साथ नंदी हॉल के पीछे गणेश मंडपम् से भगवान महाकाल के दर्शन होंगे। मोबाइल नेटवर्क तथा नेट की सुविधा के लिए जिओ कंपनी के माध्यम से अस्थाई टॉवर भी लगाया है। अतिवृद्ध व दिव्यांग श्रद्धालुओं के लिए व्हील चेयर की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

सूचना बोर्ड के जरिए मिलेगी विभिन्‍न जानकारियां

महाकाल मंदिर आने वाले दर्शनार्थियों को सूचना बोर्ड के माध्यम से विभिन्न् जानकारियां दी जाएंगी। साल में एक बार दोपहर में होने वाली भस्मारती शनिवार को दोपहर 12 बजे होगी। इसके पूर्व भगवान के शीश सवा मन फूल और फूलों से सेहरा सजाया जाएगा। इसके लिए व्‍यापक इंतजाम किए गए हैं।

शिवतांडव रूप में सजे महाकाल

ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में चल रहे शिवनवरात्रि उत्सव के आठवें दिन गुरुवार को भगवान महाकाल का शिवतांडव रूप में श्रृंगार किया गया। भगवान को नवीनवस्त्र, आभूषण तथा फलों की माला धारण कराई गई। 22 फरवरी को तड़के 4 बजे भगवान का सप्तधान रूप में श्रृंगार हुआ।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket