Mahakal Sawari: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर से आज स्वतंत्रता दिवस के संयोग में भादौ मास में भगवान महाकाल की पहली सवारी धूमधाम से निकाली जा रही है। भगवान महाकाल चांदी की पालकी में चंद्रमौलेश्वर, हाथी पर मनमहेश, गरुड़ रथ पर शिव तांडव, नंदी पर उमा-महेश तथा डोल रथ पर होलकर रूप में विराजित होकर भक्तों के दर्शन देने निकले हैं। आरंभ में कलेक्‍टर ने महाकाल की पूजा के साथ सवारी का आगाज किया।

स्वतंत्रता की हीरक जयंती पर निकल रही भगवान महाकाल की सवारी में धर्म के साथ देशभक्ति के रंग भी नजर आ रहे हैं। भगवान की पालकी को तिरंगे (तीन रंगों के फूलों) से सजाया गया है। सवारी में शामिल भक्त, भजन मंडल तथा झांझ-डमरू दल के सदस्य राष्ट्रीय ध्वज लेकर निकले हैं!

महाकाल मंदिर से शाम चार बजे सवारी की शुरुआत हुई जो कोट मोहल्ला, गुदरी चौराहा, बक्षी बाजार, कहारवाड़ी होते हुए शिप्रा तट पहुंचेगी। यहां पुजारी शिप्रा जल से भगवान के चंद्रमौलेश्वर रूप का अभिषेक कर पूजा-अर्चना करेंगे।

पूजन पश्चात सवारी रामानुजाकोट, कार्तिक चौक, जगदीश मंदिर, सत्यनारायण मंदिर, ढाबा रोड, टंकी चौराहा, छत्री चौक, गोपाल मंदिर, पटनी बाजार होते हुए पुन: मंदिर पहुंचकर संपन्न होगी। श्रावण-भादौ मास के क्रम में 22 अगस्त को शाही सवारी निकलेगी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close