Mahakal Temple: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में नए साल को लेकर नया दर्शन प्लान तैयार हो रहा है। मंदिर प्रशासन का अनुमान है कि 20 दिसंबर से पांच जनवरी तक मंदिर में बीते तीन सालों के मुकाबले सर्वाधिक भीड़ रहेगी। उसको देखते हुए सामान्य दर्शन, भस्म आरती, लड्डू प्रसाद की आपर्ति तथा अन्नाक्षेत्र की व्यवस्था को लेकर व्यापक प्लान तैयार किया जा रहा है।

वर्ष 2022 की विदाई तथा नए साल 2023 का स्वागत देश-विदेश के हजारों श्रद्धालु भगवान महाकाल के दर्शन के साथ करते हैं। कई सालों से इन दिनों में हजारों भक्त भगवान महाकाल के दर्शन करने उज्जैन पहुंचते हैं।

श्री महाकाल महालोक का निर्माण होने के बाद इस बार बीते सालों की अपेक्षा और अधिक भक्तों के महाकाल दर्शन करने आने का अनुमान है। मंदिर प्रशासक संदीप कुमार सोनी ने बताया कि भक्तों को सुविधापूर्वक भगवान महाकाल के दर्शन हो तथा वें सुखद अनुभव लेकर गंतव्य को रवाना हो, इस मंशा के साथ प्लान तैयार किया जा रहा है।

इन बातों पर मंथन

मंदिर प्रशासन इन दिनों आम दर्शनार्थियों को प्रतिदिन दोपहर एक से शाम चार बजे तक तीन घंटे गर्भगृह से भगवान महाकाल के दर्शन करा रहा है। मंदिर प्रशासन भीड़ वाले दिनों में गर्भगृह में प्रवेश का चालू रखने की स्थिति को केंद्र में रखकर दर्शन प्लान तैयार करेगा।

देश विदेश से आने वाले भक्तों की मंशा भगवान महाकाल की भस्म आरती के दर्शन करने की रहती है। इसके लिए भी संभावनाएं तलाशी जा रही है। भस्म आरती के लिए लागू कोटा सिस्टम की पड़ताल की जाएगी। इसमें से सामान्य दर्शनार्थियों को अधिक सीट उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है।

महाकाल दर्शन करने आने वाले दर्शनार्थी भगवान महाकाल का लड्डू प्रसाद खरीदते हैं। बीते कुछ दिनों से मंदिर में लड्डू प्रसाद को लेकर किल्लत बनी हुई है। आगामी दिनों में प्रसाद की आपूर्ति सुगम हो, इसको लेकर पहले से तैयारी रखने पर व्यवस्था तय की जाएगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close