उज्जैन। नईदुनिया प्रतिनिधि। Mahakal Temple ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में शुक्रवार को कलेक्टर शशांक मिश्र की अध्यक्षता में प्रबंध समिति की आपात बैठक हुई। इसमें दिल्ली की सिक्यूरिटी एंड इंटेलिजेंस सर्विसेस को मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था का ठेका दिया गया। कंपनी 20 दिसंबर के बाद काम शुरू करेगी।

मंदिर प्रशासक सुजानसिंह रावत ने बताया कि इंदौर की थर्ड आई सुरक्षा ऐजेंसी का ठेका 19 दिसंबर को समाप्त हो रहा है। ऐसे में प्रबंध समिति की बैठक कर दिल्ली की कंपनी को नया ठेका दिया गया है। बैठक में मंदिर की जमीन व नए निर्माण को लेकर भी महत्वपूर्ण निर्णय हुए हैं।

मंदिर समिति द्वारा सुरक्षा व्यवस्था के लिए ई-निविदा के जरिए सिक्यूरिटी एंड इंटेलिजेंस सर्विस नई दिल्ली को ठेका देने का अनुमोदन किया गया था। कंपनी का चयन अनुभव, टर्नओवर तथा प्रेजेंटेशन में प्राप्त अंकों के आधार पर किया गया था। शुक्रवार को प्रबंध समिति की बैठक में इस पर स्वीकृति मोहर लगाई गई। मंदिर समिति कंपनी को 1 प्रतिशत सेवा शुल्क प्रदान करेगी। कंपनी को उक्त ठेका दो वर्षों के लिए दिया गया है। कंपनी मंदिर समिति को 175 सुरक्षाकर्मी प्रदान करेगी।

सुरक्षाकर्मियों को मान्य दर से मिलेगा वेतन

मंदिर प्रशासक के अनुसार नए ठेके में कार्यरत सुरक्षाकर्मियों को श्रम विभाग की गाईड लाईन के अनुसार वेतन मिलेगा। इसके लिए गार्डों को कंपनी पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। मंदिर समिति स्वयं मान्य दर के अनुसार गार्डों के खाते में राशि डालेगी। मंदिर में सुरक्षा के लिए आवश्यक उपकरण कंपनी द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके लिए प्रबंध समिति कंपनी को एक फीसदी राशि सेवा शुल्क के रूप में अलग से अदा करेगी।

कंपनी ऑनलाइन करेगी भर्ती

इस बार मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद होने के आसार नजर आ रहे हैं। अफसरों का कहना है कि कंपनी नए गार्डों की ऑनलाइन भर्ती करेगी। कंपनी ने इसके लिए नियम बना रखे हैं। जो गार्ड कंपनी के मानदंडों पर खरे उतरेंगे, उन्हें ही महाकाल के आंगन में सेवा का अवसर प्राप्त होगा।

फिर लौटने के लिए जोर लगा रहे...

इधर, सूत्रों का कहना है कि थर्ड आई कंपनी में सुरक्षा व्यवस्था प्रभारी सहित कुछ गार्ड नए ठेके में फिर से काम पर लौटने के लिए जोर लगा रहे हैं। इसके लिए अफसरों से लेकर नेताओं तक से सिफारिश कराने की तैयारी की जा रही है। मंदिर प्रशासन के कुछ अधिकारी भी इस काम में इनकी मदद कर रह हैं।

सीमेंट कंपनी बनाएगी गेस्ट हाउस

बैठक में नृसिंह घाट के समीप स्थित मंदिर समिति की 1.143 हेक्टेयर भूमि पर अतिथि निवास बनाने की स्वीकृति दी गई। यह कार्य जेके सीमेंट कंपनी द्वारा किया जाएगा। कंपनी गेस्ट हाउस का निर्माण कर मंदिर समिति को सौंपेगी।

संचालन मंदिर प्रशासन द्वारा किया जाएगा। समय-समय पर कंपनी भवन का रखरखाव भी करेगी। सौंदर्यीकरण के काम का जिम्मा भी सीमेंट कंपनी का होगा। इसके एवज में मंदिर समिति कंपनी के अतिथियों को ठहरने के लिए नि:शुल्क रूम तथा भस्मारती दर्शन आदि की सुविधा देगी।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket