उज्जैन, Mahakal Temple Ujjain। श्रावण माह के पहले सोमवार पर आज सुबह से उज्जैन के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में भोलेनाथ का आशीर्वाद पाने बड़ी संख्या में भक्त पहुंचे। सुबह 6 बजे से शुरू हुए दर्शन 11 बजे तक चले, अब शाम 7 बजे से 9 बजे तक भक्तों को मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। आज भगवान महाकाल की पहली सवारी निकलेगी, शाम 4 बजे शाही ठाठ के साथ राजाधिराज नगर भ्रमण पर निकलेगे। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सवारी मार्गों पर भक्तों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। मंदिर की वेबसाइट, फेसबुक पेज आदि पर आनलाइन दर्शन होंगे। मंदिर के सभा मंडप में दोपहर करीब 3.30 बजे मंदिर की परंपरा अनुसार कलेक्टर आशीषसिंह भगवान के मनमहेश रूप का पूजन करेंगे। पश्चात पालकी नगर भ्रमण के लिए रवाना होगी। मंदिर के मुख्य शहनाई द्वार पर सशस्त्र बल की टुकड़ी अवंतिकानाथ को सलामी देगी। इसके बाद राजा का नगर भ्रमण शुरू होगा। इस बार भी सवारी नए छोटे मार्ग से निकाली जाएगी। सीएम शिवराज सिंह चौहान महाकाल के दर्शन करने के लिए भोपाल से सड़क मार्ग से उज्जैन पहुंचे।

महाकाल लाइव दर्शन

सख्ती और सुविधा

- सवारी में भक्तों को प्रवेश नहीं।

- सोमवार को दर्शनार्थियों को अग्रिम बुकिंग पर सुबह छह से 11 तथा शाम सात से नौ बजे तक दर्शन कराए जाएंगे।

- श्रावण सोमवार को छोड़ शेष दिनों में सुबह पांच से रात नौ बजे तक दर्शन कर सकेंगे।

- 250 रुपये के शीघ्र दर्शन टिकट की सुविधा बंद है।

पूर्व सीएम उमा भारती ने किए महाकाल के दर्शन।

इस मार्ग से शिप्रा तट पहुंचेगी पालकी

महाकाल मंदिर से शुरू होकर सवारी बड़े गणेश मंदिर के सामने से हरसिद्धि चौराहा पहुंचेगी। यहां से झालरिया मठ के रास्ते सिद्धआश्रम के सामने से होते हुए शिक्षा के रामघाट स्थित महाकल पेढ़ी पहुंचेगी। यहां पुजारी शिप्रा जल से भगवान महाकाल का अभिषेक पूजन करेंगे। पश्चात सवारी मंदिर की ओर रवाना होगी।

इस मार्ग से मंदिर लौटेगी

सवारी रामघाट पर पूजन के बाद सवारी रामानुजकोट चौराहा से हरसिद्धि की पाल होकर शक्तिपीठ हरसिद्धि मंदिर पहुंचेगी, यहां शिव-शक्ति का पूजन होगा। पश्चात सवारी हरसिद्धि चौराहा से बड़े गणेश मंदिर के समाने से होकर पुन: मंदिर पहुंचेगी।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local