उज्जैन। Mahakal Temple ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में मकर संक्रांति Makar Sankranti बुधवार से दिव्यांगों को वीआईपी का दर्जा मिलेगा। महाकाल मंदिर समिति Mahakal Temple Committee प्रतिदिन 20 दिव्यांग व उनके अटेंडर को प्रोटोकॉल के तहत भस्मारती की अनुमति देगी। यह पहला मौका है जब दिव्यांगों को भस्मारती अनुमति में विशेष कोटा जारी किया गया है।

दिव्यांगों की सुविधा के लिए कोटा सिस्टम लागू किया

उज्‍जैन के कलेक्टर शशांक मिश्र ने दिव्यांगों की सुविधा के लिए कोटा सिस्टम लागू किया है। इसके तहत प्रतिदिन 20 दिव्यांग इसका लाभ ले सकते हैं। उनके साथ एक-एक व्यक्ति को अटेंडर के रूप में वीआईपी अनुमति मिलेगी।

ऑन और ऑफलाइन सुविधा के अतिरिक्‍त

जनसंपर्क अधिकारी संतोष उज्जैनिया ने बताया जो दिव्यांग ऑनलाइन या मंदिर के काउंटर से ऑफलाइन अनुमति प्राप्त कर रहे हैं, यह सुविधा इसके अतिरिक्त दी जा रही है।

व्हीलचेयर, पाथवे, रैंप आदि की सुविधा पहले से ही उपलब्‍ध

बता दें मंदिर में दिव्यांगों के लिए व्हीलचेयर, पाथवे, रैंप आदि की सुविधा पहले से ही मौजूद है। इन्हें मंदिर के वीआईपी गेट से प्रवेश की सुविधा भी प्रदान की जाती है।

दिव्यांगों के लिए विशेष सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला

महाकाल मंदिर समिति को दिव्यांगों के लिए विशेष सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिल चुका है। मंदिर के प्रयासों को व्‍यापक सराहना मिली है।

प्रतिदिन आते हैं बड़ी संख्‍या में श्रद्धालु

उल्‍लेखनीय है कि उज्‍जैन के ज्‍योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में दर्शनों और पूजा अर्चना के लिए देश-विदेश से बड़ी संख्‍या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। शनिवार और रविवार के दिन तो मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की खासी भीड़ रहती है।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket