उज्जैन। Ujjain News चिंतामन गणेश मंदिर(Chintaman Ganesh Temple) में मैरिज गार्डन की तरह शादी हो रही है। विवाह कराने वाले परिवार परिसर में शामियाने लगा रहे हैं। खानपान का इंतजाम भी हो रहा है। जबकि परिसर में इस तरह के आयोजन पर रोक है। बावजूद जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे। उज्जयिनी के षड्विनायक में से एक प्रसिद्ध चिंतामन गणेश मंदिर में लोग दूरदराज से विवाह कराने आते हैं। इसके लिए मंदिर समिति ने 4100 रुपए का शुल्क निर्धारित किया है। नियमानुसार मंदिर में सादगी से विवाह कराए जाते हैं। परिसर में शामियाने लगाने तथा खानपान के इंतजाम आदि पर रोक है। लेकिन जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते लोग मंदिर में मैरिज गार्डन की तरह शादियां कर रहे हैं। सूत्र बताते हैं मंदिर में शादियां कराने वाले प्रभावशाली पंडित अपने यजमानों को विशेष सुविधाएं उपलब्ध करा रहे हैं। कलेक्टर शशांक मिश्र (Ujjain Collector) सोमवार शाम व्यवस्था का जायजा लेने चिंतामन गणेश मंदिर पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को कई खामियां नजर आई। कार्यालय में जिम्मेदार मौजूद नहीं थे। परिसर में गंदगी के साथ कबाड़ के ढेर लगे हुए थे। इस पर उन्होंने एसडीएम को बुलाकर व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए।

दो दिन से अवकाश पर हूं...

मंदिर प्रशासक पटवारी भगवती शर्मा ने बताया परिवार में शादी है। इसलिए दो दिन से अवकाश पर हूं। मंदिर में विवाह कराने आने वाले परिवार शामियाने आदि नहीं लगा सकते हैं, यह नियम के विरुद्ध है। जो कर्मचारी व अधिकारी ड्यूटी पर हैं, उन्हें व्यवस्था संभालना चाहिए। लौटकर आने पर संबंधित पंडित से इस मामले में चर्चा करूंगा। साथ ही नियमानुसार कार्रवाई भी होगी।

Posted By: Prashant Pandey