Nag Panchami 2022: उज्जैन ( नईदुनिया प्रतिनिधि)। नागपंचमी के लिए ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर के शिखर पर स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट रविवार रात 12 बजे के बाद खोले गए। इसके बाद महानिर्वाणी अखाड़े के गादीपति महंत विनीत गिरीजी महाराज के सानिध्य में भगवान नागचंद्रेश्वर की पूजा अर्चना हुई। सुबह से ही दर्शनों के लिए भारी भीड़ उमड़ रही है।

पूजन के बाद आम भक्तों को मंदिर में प्रवेश दिया गया, दर्शन का सिलसिला लगातार 24 घंटे मंगलवार रात 12 बजे तक चलेगा।

मंदिर की परंपरा अनुसार मंगलवार दोपहर शासन की ओर से उच्च अधिकारी ने भगवान नागचंद्रेश्वर का पूजन किया। शाम को भगवान महाकाल की संध्या आरती के बाद मंदिर समिति के अधिकारी तथा पुजारी, पुरोहितों द्वारा भगवान नागचंद्रेश्वर का पूजन किया जाएगा।

मंगलवार मध्य रात्रि 12 बजे पूजा अर्चना के बाद एक साल के लिए पुन: मंदिर के पट बंद कर दिए जाएंगे। भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन के लिए देश के विभिन्न् राज्यों से आए श्रद्धालु रविवार रात 8 बजे से दर्शन की कतार में लग गए थे। भक्तों को भगवान के दर्शन के लिए करीब 4 घंटे इंतजार करना पड़ा। पूजन के बाद जैसे ही दर्शन का सिलसिला शुरू हुआ, जयकारों से गगन गुंजायमान हो गया। भक्त हर्षित मन से भगवान की एक झलक पाने को आतुर नजर आए।

मुख्यमंत्री ने किया ओवरब्रिज का उद्घाटन

सोमवार शाम मंदिर के इतिहास में फोल्डिंग ओवरब्रिज के रूप में नया अध्याय जुड़ गया है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने महंत विनीत गिरीजी महाराज के साथ पूजा अर्चना कर नवनिर्मित पुल का उद्घाटन किया। इसके बाद ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी तथा भक्तों को मंदिर में प्रवेश दिया गया।

बतादें मंदिर समिति ने एक दानदाता के सहयोग से करीब 1 करोड़ रुपये की लागत से पुल का निर्माण कराया है। इससे पहले नागचंद्रेश्वर मंदिर जाने के लिए प्रतिवर्ष अस्थायी लोहे की सीढ़ियों का निर्माण किया जाता था।

घरों में होगा नागदेवता का पूजन

नागपंचमी पर घरों में भी भगवान नागदेवता का पूजन होगा। भक्त घर की दीवार पर नागदेवता की आकृति बनाकर सुख, समृद्धि के लिए पूजा अर्चना करेंगे। मालवा की लोकपरंपरा अनुसार इस दिन घरों में दाल, बाटी, चूरमा बनाया जाता है।

सांपों के प्रदर्शन पर रोक

नागपंचमी पर सांपों को पकड़कर शहरी सीमा में लाना तथा उनके प्रदर्शन पर रोक लगाई गई है। ऐसा करते पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी।

नागपंचमी पर ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर के शिखर पर स्थित भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर में दर्शन के लिए सामान्य व 250 रुपये के शीघ्र दर्शन टिकटधारी श्रद्धालुओं के लिए दर्शन की कतार अलग है। भक्तों को मंदिर के क्रमशः 4 व 5 नंबर द्वार से मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। दर्शन के उपरांत भक्त शहनाई गेट के रास्ते मंदिर के बाहर निकल सकेंगे।

जिला प्रशासन के अनुसार भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन के लिए करीब तीन लाख भक्तों के उज्‍जैन मंदिर आने का अनुमान है। सोमवार को भगवान महाकाल की सवारी संपन्न होने के बाद भक्तों को दर्शन की कतार में प्रवेश दिया गया। हरसिद्धि चौराहा से दर्शनार्थियों की तीन कतार बनाई गई है।

एक कतार सामान्य दर्शनार्थी के लिए है। दूसरी कतार में लगकर शीघ्र दर्शन टिकट वाले दर्शनार्थी लगे हैं। तीसरी कतार दर्शन के बाद मंदिर से बाहर आने वाले दर्शनार्थियों की है कलेक्टर ने कहा कि मंदिर के आसपास तीन ओर के हिस्से में निर्माण कार्य चल रहे हैं। ऐसे में एक ओर के हिस्से में संपूर्ण व्यवस्था संचालित की जानी है। प्रशासन ने सीमित स्थान में भक्तों की सुविधा के लिए बेहतर इंतजाम किए हैं।

कोरोना काल के दो साल बाद भक्तों को भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन हो रहे हैं। भक्तों को पहली बार फुटओवर ब्रिज के रास्ते नागचंद्रेश्वर मंदिर में प्रवेश दिया जा रहा है। भक्तों को सोमवार रात 12 बजे पट बंद होने तक लगातार 24 घंटे भगवान के दर्शन होंगे। इस दौरान भगवान की त्रिकाल पूजा भी की जाएगी।

Koo App

नागपंचमी विशेष : श्री महाकाल मंदिर से नागचंद्रेश्वर जी के दर्शन का सीधा प्रसारण #Nagpanchami

View attached media content

- Shree Mahakaleshwar Temple Management Committee (@officialshreemahakalujjain) 2 Aug 2022

Koo App

श्री महाकालेश्वर मंदिर के शीर्ष शिखर पर स्थित श्री नागचन्द्रेश्वर भगवान के पट साल में एक बार 1 अगस्त की रात्रि को खुले। श्री महाकालेश्वर भगवान के मंदिर के शीर्ष पर स्थित श्री नागचन्द्रेश्वर भगवान के पट खुलने के पश्चात श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाडे के महंत श्री विनीत गिरी जी द्वारा पूजन व अभिषेक किया गया। #nagpanchami2022

View attached media content

- Shree Mahakaleshwar Temple Management Committee (@officialshreemahakalujjain) 2 Aug 2022

Koo App

ॐ भुजंगेशाय विद्महे, सर्पराजाय धीमहि, तन्नो नाग:प्रचोदयात्।। आप सभी को #नागपंचमी के पावन अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं। भगवान शिव और नाग देवता आप सभी की मनोकामनाएं पूर्ण करें तथा आपके जीवन में सदैव सुख, समृद्धि, खुशहाली बनी रहे: CM #NagPanchami

View attached media content

- CM Madhya Pradesh (@CMMadhyaPradesh) 2 Aug 2022

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close