उज्जैन। शुक्रवार को देवास रोड स्थित 32वीं बटालियन से तिरंगा यात्रा निकाली गई। यात्रा बटालियन से प्रमुख मार्गों से होते हुए सर्किट हाउस

पर समाप्त हुई।

यात्रा में 32वीं बटालियन के जवानों के अलावा राज्य सायबर सेल, होमगार्ड, वन विभाग, बैंक व नगर सुरक्षा समिति के सदस्य शामिल थे। सभी लोग अपने हाथों में तिरंगा लिए हुए निकले। इसके अलावा दशहरा मैदान पर परेड की तैयारी करने वाले पुलिस जवानों ने भी तिरंगा यात्रा निकाली। यात्रा दशहरा मैदान, मुंगी चौराहा होते हुए तीन बत्ती चौराहा पहुंची, जहां से टावर चौक, शहीद पार्क होते हुए वापस दशहरा मैदान पहुंची।

बार एसोसिएशन में सहमति

रविंद्र त्रिवेदी बने रहेंगे अध्यक्ष

उज्जैन। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष की कार्यशैली से नाराज होकर बुधवार को कार्यकारिणी सदस्यों व पदाधिकारियों ने उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास कर उन्हें पद से हटा दिया था। उपाध्यक्ष को कार्यवाहक अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। शुक्रवार को समन्वय समिति के द्वारा आपसी सहमति बना दी गई। जिसके बाद फिर से अध्यक्ष को जिम्मेदारी सौंप दी गई।

बता दें कि बार एसोसिएशन की बुधवार को कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गई थी। अध्यक्ष रवींद्र त्रिवेदी पर अभिभाषक सदस्यों द्वारा कई आरोप लगाए गए थे। इसे लेकर अध्यक्ष त्रिवेदी द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिए गए तथा बैठक से उठकर चले गए थे। इस पर तत्काल उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। जिसमें 17 सदस्यों में से 13 कार्यकारिणी सदस्यों व पदाधिकारियों ने समर्थन कर हस्ताक्षर कर अध्यक्ष रवींद्र त्रिवेदी को उनके पद के दायित्वों से मुक्त कर उपाध्यक्ष नितिन जोशी को कार्यवाहक अध्यक्ष का पदभार सौंपा था। शुक्रवार को समन्वय समिति द्वारा अभिभाषक संघ के पदाधिकारियों के बीच कार्यप्रणाली व दायित्व को लेकर उत्पन्ना हुए गतिरोध को दूर कर दिया गया और फिर से रविंद्र त्रिवेदी को अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंप दी गई।

आज नेशनल लोक अदालत सहमति से निपटेंगे मामले

उज्जैन। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देश के अनुसार शनिवार को इस साल की दूसरी नेशनल लोक अदालत का आयोजन जिला एवं सभी तहसील मुख्यालयों पर किया जा रहा है। इसमें आपसी सहमति से मामलों को निपटाया जाएगा। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव अरविंद कुमार जैन ने बताया कि राजीनामा योग्य लंबित अथवा प्रीलिटिगेशन प्रकरणों को नेशनल लोक अदालत में आपसी समझौते के माध्यम से राजीनामा के आधार पर प्रकरणों का निराकरण किया जाएगा। लोक अदालत में कोर्ट में लंबित प्रकरण जिनमें दीवानी, आपराधिक, चेक बाउंस, मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा, पारिवारिक प्रकरण, भूमि अधिग्रहण, विद्युत प्रकरण, श्रम एवं रोजगार, मनी रिकवरी प्रकरणों को शामिल किया गया है। इसके अलावा बैंक रिकवरी, बिजली एवं जल कर, संपत्तिकर संबंधित प्रीलिटिगेशन प्रकरणों का निराकरण सुलह एवं समझौते के माध्यम से किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close