उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आंधी के साथ हुई बारिश के चलते सोमवार शाम शहर की बत्ती गुल हो गई। अधिकांश इलाके घंटों अंधेरे में डूबे रहे। आउटसोर्स कर्मचारियों की हड़ताल के चलते विद्युत प्रदाय सुचारू करने में खासी परेशानी आई। कई इलाकों में देर रात तक बिजली व्यवस्था सुचारू नहीं हो पाई थी। मध्य प्रदेश विद्युत वितरण कंपनी शहर की विद्युत व्यवस्था को सुचारू नहीं रख पा रही है। लगातार मेंटेनेंस के बावजूद जरा सी आंधी के साथ हुई बारिश में ही नए व पुराने शहर की बत्ती गुल हो गई। पूरा शहर घंटों अंधेरे में डूबा रहा, अधिकारियों ने कहा कि आंधी के कारण शहर में अनेक पेड़ गिर गए हैं। इससे लाइनों में फाल्ट हो गया है, टीम फाल्ट सुधारने का काम कर रही है। जैसे-जैसे लाइनों को संधारण होगा, शहर के हिस्सों में विद्युत प्रदाय सुचारू किया जाएगा। आउटसोर्स कर्मचारियों की हड़ताल के कारण भी दुरुस्तीकरण के काम में परेशानी आ रही है।

मेंटनेंस पर भी उठे सवाल

बता दें विद्युत वितरण कंपनी ने बारिश के पहले लाइनों का मेंटेनेंस किया था। अधिकारियों का कहना था कि मानसून पूर्व मेंटनेंस से बारिश के दिनों में किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। जैसे ही बारिश शुरू हुई बिजली गुल होने की समस्या उपजने लगी। फ्रीगंज तथा देवास रोड के कुछ हिस्सों में एक पखवाड़े पहले फिर से विद्युत लाइनों के समीप स्थित पेड़ों की छटाई की गई थी। लेकिन समस्या का हल नहीं निकला, सोमवार को अधिकारियों ने बिजली संकट के विद्युल लाइनों पर पेड़ गिरने की समस्या को कारण बताया।

महाकाल मंदिर में पेड़ गिरा

आंधी व बारिश के कारण महाकाल धर्मशाला के पीछे स्थित पेड़ धराशायी हो गया। पीआरओ गौरी जोशी ने बताया घटना के समय पेड़ के आसपास को मौजूद नहीं था। किसी प्रकार की हानि नहीं हुई है। केवल मार्ग अवरुद्ध होने से आवागमन बाधित हुआ था। मंदिर कर्मचारियों ने पेड़ की डालियों को काटकर रास्ता साफ किया।

लगातार तीसरे दिन शाम को हुई तेज बारिश, आज भी आसार

उज्जैन। यहां लगातार तीसरे दिन दिनभर धूप खिली और शाम को गरज-चमक के साथ तेज बारिश हुई। हवा तेज चलने से कई जगह पेड़ गिरे और कई क्षेत्रों में लाइट बंद रही। बुधवारिया, नईसड़क, तोपखाना सहित कई निचले इलाकों में सड़क पर पानी भरा गया। मौसम विभाग ने मंगलवार को भी तेज बारिश होने का अनुमान जताया है। जीवाजी वेधशाला के अनुसार 24 घंटों में 17 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई है। इससे इस सीजन में हुई बारिश का आंकड़ा बढ़कर 693 मिलीमीटर हो गया है। ये औसत 902 मिमी बारिश से काफी कम है। दिन का अधिकतम तापमान 32 डिग्री और रात का न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local