Road Safety Campaign Ujjain: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में 4530 आटो रिक्शा संचालित हैं, जिनमें से 3942 आटो रिक्शा क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ) ने बीते 10 वर्षों में जांचे हैं। बिना परमिट संचालित पाए जाने पर 161 आटो जब्त कर 23 लाख 24500 रुपये अर्थदंड वसूला है।

सड़क सुरक्षा को लेकर आरटीओ द्धारा की गई कार्रवाई की ये ताजा जानकारी शासन पहुंचाई गई है। जानकारी में लेख है कि 1 नवंबर 2012 से 22 नवंबर 2022 तक क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने फिटनेस प्रमाण पत्र बगैर संचालित 44 और प्रदूषण प्रमाण पत्र बगैर संचालित 49 आटो रिक्शा पर भी कार्रवाई की गई है। पिछले वर्ष 2189 आटो जब्त किए थे, जिनमें से 93 आटो जब्त किए थे। नियम विरूद्ध आटो संचालित करने पर कुल 15 लाख 55 हजार रुपये अर्थदंड वसूला गया था। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी संतोष कुमार मालवीय ने नईदुनिया को बताया कि वाहनों के लिए शासन ने जो गाइडलाइन जारी की है, उसके अनुरूप समय-समय पर गाड़ियों की जांच की जाती रही है।

गाड़ियां फीट होंगी, चालक प्रशिक्षित होंगे तो निश्चित ही दुर्घटनाएं टलेंगीं। इसलिए लोक परिवहन के साधन, बस, आटो, मैजिक आदि की समय-समय पर जांच की जाती है। बीते 10 वर्षों में 3592 आटो रिक्शा के परमिट जारी किए गए हैं। 4530 आटो चालकों को आटो का फिटनेस प्रमाण पत्र जारी किया है। शहर में मीटर से ही यात्री किराया वसूलने का प्राविधान लागू है। इसलिए सभी आटो रिक्शा की जांच जारी है। देखा जा रहा है कि आटो में मीटर और किराया दूरी अनुसार सूची लगी है या नहीं। न मिलने पर आटो जब्त कर जुर्माने की कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close