Surya Grahan 21 June 2020 Aarti Timing : उज्जैन। आम तौर पर किसी भी ग्रहण के दौरान मंदिरों के पट श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए जाते हैं लेकिन महाकाल मंदिर में ऐसा नहीं किया जाता है। आज सूर्यग्रहण समाप्ति के बाद मंदिर का शुद्धिकरण किया गया।

आषाढ़ी अमावस्या पर रविवार को तीर्थ नगरी उज्जयिनी में सूर्य ग्रहण साढ़े तीन घंटे तक दिखाई दिया। दोपहर में एक समय ऐसा लगा जैसे शाम हो गई हो। ग्रहण काल में ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर को छोड़कर अन्य मंदिरों के पट बंद रहे। यहां गर्भगृह में पुजारियों ने जाप किए। मोक्ष के बाद मंदिर को धोकर शुद्धि की गई। सुबह 10 बजे होने वाली भोग आरती दोपहर में 2.30 बजे हुई।

पं.महेश पुजारी ने बताया महायोगी महाकाल काल और मृत्यु से परे हैं। उन पर किसी भी प्रकार के ग्रह नक्षत्र का प्रभाव नहीं पड़ता है। इसलिए महाकाल मंदिर की परंपरा अनुसार ग्रहण काल के समय भी गर्भगृह के पट खुले रहते हैं। सांसारिक मनुष्य को ग्रहण का दोष लगता है। इसलिए ज्योतिर्लिंग की पवित्रता का ध्यान रखते हुए ग्रहण काल में पुजारी व भक्तों का गर्भगृह में प्रवेश प्रतिबंधित रहता है। ग्रहण मोक्ष के बाद मंदिर को धोकर शुद्ध किया जाता है। इसके बाद पुजारी पूजन करते हैं।

धर्मधानी उज्जयिनी में विश्व प्रसिद्ध ज्‍योतिर्लिंग महाकाल म्रंदिर के पट ग्रहण के दौरान भी खुले रहते हैं। हालांकि इस दौरान न तो पूजा अर्चना होती है और न ही शिवलिंग का स्‍पर्श किया जा सकता है। पंडितों का इस बारे में कहना है कि महाकाल मंदिर पर ग्रहण के सूतक का कोई असर नहीं होता। माना जाता है कि भगवान महाकाल चूंकि काल के देवता हैं इसलिये उन पर ग्रहण का असर नहीं होता है। कुछ पं‍डितों के अनुसार ग्रहण के दौरान वैष्‍णव मंदिरों के द्वार भक्तों के लिए बंद कर दिए जाते हैं जबकि शैव मंदिरों के द्वार खुले रखे जाते हैं।

ग्रहण मोक्ष के बाद मंदिरों में शुद्धि के बाद भगवान का अभिषेक-पूजन किया गया। कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने मोक्षदायिनी शिप्रा में स्नान पर रोक लगा दी। घाट पर पुलिस बल तैनात किया गया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना