उज्जैन। ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में अफसर राजस्व बढ़ाने के लिए मनमाने निर्णय कर रहे हैं। पिछले दिनों अधिकारियों ने गर्भगृह में प्रवेश के लिए 1500 रुपए के लघु रुद्र अभिषेक की रसीद के साथ 200 रुपए के दान की रसीद लेना अनिवार्य कर दिया था। इससे दो लोगों को गर्भगृह में जाने के लिए 1700 रुपए खर्च करना पड़ रहे थे।

इससे श्रद्धालुओं की जेब पर आर्थिक बोझ बढ़ रहा था। अब प्रबंध समिति ने अफसरों के इस निर्णय को बदलकर फिर से 1500 रुपए की रसीद पर गर्भगृह में जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की है।

1500 रुपए की रसीद पर सुबह 8 से 10 तथा दोपहर 2 से 4 बजे तक प्रवेश

मंदिर प्रशासन के अनुसार 1500 रुपए की रसीद पर सुबह 8 से 10 तथा दोपहर 2 से 4 बजे तक दर्शनार्थियों को गर्भगृह में प्रवेश दिया जाएगा। मंदिर में यह समय वीवीआई के लिए निर्धारित है। उनके साथ ही सशुल्क दर्शनार्थी भी अंदर जा सकेंगे। पुजारी, पुरोहित 1500 रुपए की रसीद पर अपने यजमानों को गर्भगृह में ले जाकर भगवान का अभिषेक करा सकेंगे।

पुजारी, पुरोहित को 50 फीसद हिस्सा

मंदिर प्रशासन के अनुसार 1500 रुपए की रसीद पर पुजारी, पुरोहितों को 50 फीसद राशि दक्षिणा के रूप में दी जाती है। 50 फीसद राशि मंदिर समिति मंदिर समिति को मिलती है। ऐसे में दर्शनार्थी द्वारा 1500 रुपए देकर कटाई गई रसीद में से 750 रुपए पुजारी, पुरोहित के खाते में जाते हैं। ऐसे में श्रद्धालु को पूजन उपरांत पुजारी, पुरोहित को अलग से दक्षिणा देने की अनिवार्यता नहीं है।

Posted By: Hemant Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags