उज्जैन। Til Ganesh Chaturthi Vrat 2020 माघ मास की तिल चतुर्थी पर सोमवार को प्रसिद्ध चिंतामन गणेश मंदिर में भगवान को सवा लाख तिल्ली के लड्डुओं के साथ तिल्ली से बने छप्पन पकवानों का भोग लगाया गया। पूजा और दर्शनों के लिए बड़ी संख्‍या में श्रद्धालु चिंतामण गणेश मंदिर पहुंचे।

भक्तों को भगवान चिंतामन गणेश के पूर्ण स्वरूप में दर्शन हुए

पर्व विशेष पर भक्तों को भगवान चिंतामन गणेश के पूर्ण स्वरूप में दर्शन हुए। पं.शंकर पुजारी ने बताया अल सुबह से शुरू हुआ दर्शन का सिलसिला देर तक चला। 50 हजार से अधिक भक्तों ने चिंतामन गणेश के दर्शन किए। शहर के अन्य गणपित मंदिरों में दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा।

बुधवार को मनेगी मकर संक्रांति, सुबह से रात तक रहेगा पर्वकाल

मकर संक्रांति बुधवार को मनाई जाएगी। ज्योतिषाचार्य पं.अमर डब्बावाला ने बताया 14 जनवरी को रात 2 बजकर 7 मिनट पर सूर्य का मकर राशि में प्रवेश होगा।

पर्व काल अगले दिन सूर्य की साक्षी में मनाना शास्त्र सम्मत

धर्मशास्त्रीय मान्यता के अनुसार अगर अपर रात्रि में सूर्य की संक्रांति होती है, तो पर्व काल अगले दिन सूर्य की साक्षी में मनाना शास्त्र सम्मत है। इसलिए 15 जनवरी बुधवार को मकर संक्रांति मनाई जाएगी।

शुभ लक्षणों से युक्त संक्रांति समृद्धिकारी

पं.अमर डब्बावाला से मिली जानकारी के अनुसार संक्रांति का वार नाम महोदरी तथा नक्षत्र नाम घोरा है। वाहन गर्दभ व उप वाहन मेष रहेगा। मृतिका लेपन किए संक्रांति हाथों में दंड आयुद्ध व कांस्य पात्र लिए रहेगी। युवा अवस्था में पश्चिम दिशा की ओर गमन करती संक्रांति की दृष्टि वायव्य कोण पर रहेगी। इन शुभ लक्षणों से युक्त संक्रांति समृद्धिकारी मानी गई।

Posted By: Hemant Upadhyay