उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। माघ मास में सोमवार (24 जनवरी) को कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि रहेगी। इस दिन संतान की उन्नति के लिए सफेद वस्तु के दान का महत्व है।ज्योतिर्विद डा.घनश्याम ठाकुर के अनुसार माघ मास पूजन व आराधना की दृष्टि से श्रेष्ठ माना गया है। माघ कृष्ण छठ पर सोमवार को शिव परिवार के पूजन का विधान है। इस दिन भगवान कार्तिकेय व उनकी पत्नी देवसेना का पूजन विशेष माना गया है। क्योंकि देवसेना छठ की अधिष्ठात्री देवी है। इनके विधिवत पूजन से परिवार में सुख समृद्धि तथा संतान की बौद्धिक उन्नति होती है। आज के दिन चावल, घी, शकर, कच्चा दूध, साबूदाना आदि सफेद वस्तुएं दान करना चाहिए।

शिवलिंग का करें जलाभिषेक

माघ मास कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि पर सोमवार का संयोग है। आज शिव मंदिर जाकर शिवलिंग पर जलाभिषेक जरूर करना चाहिए। मान्यता है कि इससे मांगलिक कार्यों में आ रही बाधा दूर होती है। आज उज्जैन के महाकाल मंदिर में बड़ी संख्या में भक्त पहुंचेंगे। हालांकि कोरोना संक्रमण के कारण भक्तों का गर्भगृह में प्रवेश प्रतिबंधित है।

1 फरवरी को मौनी अमावस्या, तीर्थ स्नान से प्राप्त होगा महापुण्य

माघ मास की मौनी अमावस्या इस बार 1 फरवरी को महोदय योग की साक्षी में आएगी। इस दिन प्रयागराज में गंगा स्नान का विशेष महत्व है। किन्तु धर्मशास्त्र की मान्यता यह भी कहती है कि जिस तीर्थ पर श्रद्धालु मौजूद हैं, उस तीर्थ पर गंगा ध्यान करके स्नान करने से गंगा स्नान का महापुण्य फल प्राप्त होता है। इस दिन पितरों के निमित्त तर्पण व ब्राह्मणों को भेंट दक्षिणा के साथ सीधा दान करने से परिवार में सुख समृद्धि तथा पितरों की कृपा हमेशा बनी रहती है।

ज्योतिषाचार्य घनश्याम ठाकुर के अनुसार 1 फरवरी को मंगलवार के दिन अमावस्या तिथि, नागकरण, व्यतिपात योग तथा मकर राशि का चंद्रमा होने से महोदय नामक योग का निर्माण हो रहा है। महोदय का अर्थ है महा उदय, ऐसी मान्यता है कि महोदय योग में तीर्थ स्नान करके पितरों के निमित्त देव, ऋषि, पितृ तर्पण करने के उपरांत वैदिक ब्राह्मणों को दक्षिणा व सीधा दान करना चाहिए। इससे पुण्य की प्राप्ति के साथ बाधाओं का निवारण तथा आर्थिक प्रगति तथा परिवार में सुख समृद्धि की प्राप्ति होगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local