उज्जैन(नईदुनिया प्रतिनिधि)। सड़क हादसों के कारण मौतों का ग्राफ इस साल भी बढ़ता जा रहा है। बीते 11 महीने में जिले के अलग-अलग स्थानों पर मार्गों पर हुई सड़क दुर्घटनाओं में 81 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं 268 घायल भी हुए हैं। बढ़ती दुर्घटनाओं के पीछे कई कारण हैं। कुछ में तंत्र की लापरवाही तो कुछ में वाहन चालकों की कोताही सामने आती रही है। ओवर स्पीड, फिटनेस की खामी, नशे में वाहन चलाना दुर्घटनाओं के प्रमुख कारण हैं।

बता दें कि बीते माह देवास रोड पर दताना-मताना के पास पांच मजदूरों की मौत हो गई थी। वहीं मक्सी रोड पर डंपर की टक्कर से बाइक सवार तीन बच्चों व उनकी मां की मौत हो गई थी। उज्जैन से आगर, जावरा, इंदौर और बड़नगर, मक्सी की ओर जाने वाले मार्गों पर भी दुर्घटनाओं का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। जनवरी से नवंबर तक आंकड़ों के अनुसार 81 मुसाफिरों की मौत हुई है, वहीं 268 जख्मी हुई हैं।

नाबालिग चला रहे वाहन (बॉक्स)

यातायात व परिवहन विभाग की अनदेखी के कारण सड़कों पर नाबालिग दोपहिया वाहन व चार पहिया वाहन चलाते हुए नजर आ रहे हैं। कई मामलों में नाबालिगों द्वारा तेज रफ्तार में गाड़ी चलाने के कारण दुर्घटनाएं होती रही हैं।

ओवरलोडिंग भी हादसों की वजह

तेज रफ्तार व ओवरलोडिंग भी हादसों की सबसे बड़ी वजह है। बीते माह कानपुर के यात्रियों की बस तेज रफ्तार व ओवरलोडिंग के कारण कायथा के समीप पलट गई थी। इससे बस में सवार 5 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि 45 यात्री घायल हो गए थे। वहीं मक्सी रोड डिपो चौराहे पर भी दूध टैंकर व ट्रक की टक्कर रफ्तार के कारण हुई थी। खराब सड़क व सड़कों के किनारे खड़े वाहन भी हादसों का कारण बन रहे हैं।

दुर्घटनाएं रोकने के लिए ये इंतजाम भी जरूरी

-शहर क्षेत्र के करीब व्यस्त चौराहों पर सिग्नल व्यवस्था दुरुस्त करना और जवानों की तैनाती।

-ब्लैक स्पाट और डेंजर जोन में वाहनों की रफ्तार कम करने के लिए कदम उठाना।

-खतरनाक मोड़ को सीधा करना। जहां 100 से 200 मीटर से अधिक के टर्न है वहां पर स्पीड ब्रेकर, रंबल स्ट्रीट बनाा।

-शहरी क्षेत्र में स्पीड रडार लगाने की आवश्यकता है। जिन मार्गों के चौड़ीकरण के प्रस्ताव व योजनाएं हैं, वे जल्द पूरी होनी चाहिए।

-यातायात नियम तोड़ने वालों पर सख्ती से कार्रवाई करना।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस