उज्जैन। महाकाल घाटी स्थित होटल हरे-कृष्णा के कमरा नंबर 105 में एक यात्री की खून से सनी लाश पुलिस ने बरामद की है। लाश बुरी तरह सड़ चुकी थी। होटल में ठहरे अन्य यात्रियों द्वारा बदबू आने की शिकायत पर ताला खोला गया। आंशका है कि युवक के दोस्तों ने हत्या कर बाहर से कमरे का ताला लगा दिया। पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

महाकाल पुलिस ने बताया कि हरे-कृष्णा होटल में करीब दो माह से गुड़गांव निवासी सुशांत लोक निवासी दीपक पिता लक्ष्मण (24) कमरा नंबर 105 में ठहरा हुआ था। 18 नवंबर से कमरे के बाहर ताला लगा था। शुक्रवार दोपहर कमरा नंबर 103 व 104 में ठहरे यात्रियों ने बदबू आने की शिकायत की।

होटल के कर्मचारी जितेंद्र पिता बाबूलाल सोलंकी ग्राम रूपाखेड़ी ने दूसरी चाबी से दरवाजा खोला। दरवाजा खुलते ही कमरे से बदबू आने लगी। अंदर दीपक की खून से सनी लाश पड़ी हुई थी। इस पर तत्काल महाकाल पुलिस को सूचना दी गई।

9 जून से आ रहा था होटल में

होटल के कर्मचारी जितेंद्र ने पुलिस को बताया कि दीपक 9 जून से लगातार उनकी होटल में ठहरने के लिए आ रहा था। 105 नंबर कमरे में ही ठहरता था। 27 सितंबर से दीपक होटल में लगातार ठहरा था। उसने अपना कामकाज कभी बल्ब सप्लाय करना बताया तो कभी शादियों के लिए इवेंट मैनेज तो कभी ट्रेवल एजेंट बताया। उससे मिलने कई लोग आते थे। चंदन व चेतन नामक युवक मृतक के दोस्त थे तथा कभी-कभी उससे मिलने के लिए एक्टिवा गाड़ी से आते थे। इसके अलावा दो अन्य दोस्त गोपाल मंदिर से भी आते थे व उसे रुपए देते थे।

रांची का मिला नंबर

मृतक के मोबाइल में झारखंड के रांची का लैंडलाइन नंबर मिला है। इस पर अध्ािकांश बार बात हुई है। पुलिस ने मोबाइल से उसके घरवालों के नंबर पर बात कर घटना की जानकारी दी है। जल्द ही परिजन उज्जैन आएंगे।

प्रेम प्रसंग या लेनदेन के कारण हत्या

पुलिस को आंशका है कि दीपक की हत्या प्रेम प्रसंग अथवा लेनदेन को लेकर की गई है। शव के आसपास से पुलिस ने ताश के पत्ते व सिगरेट जब्त की है। होटल के कर्मचारी ने भी पुलिस को बताया कि मृतक मोबाइल पर काफी देर तक किसी लड़की से बात करता था। पुलिस कॉल डिटेल निकालकर नंबर ट्रेस करने में जुटी है।

तकीये से पोछा खून

हत्या करने के बाद हत्यारों ने तकीये से दीवारों व अन्य जगह से खून साफ किया तथा लाश को चद्दर में लपेटकर उसे बेड के नीचे ध्ाकेल दिया। बाहर से कमरे का ताला लगाकर वहां से निकल गए। पुलिस होटल कर्मचारी से यह पता लगाने में जुटी है कि 18 नंबवर को कौन मृतक से मिलने आया था।

13 हजार किराया बाकी था

मृतक होटल में करीब दो माह से ठहरा हुआ था। उस पर करीब 13 हजार रुपए किराया बाकी था। होटल मालिक लक्ष्मीकांत शर्मा ने कर्मचारी से कहा था कि दीपक दिखे तो उससे किराया वसूल लेना।

एसपी पहुंचे मौके पर

हत्या की जानकारी मिलने पर एसपी मनोहर सिंह वर्मा मौके पर पहुंचे तथा मामले की पड़ताल की। काफी देर तक एसपी मौके पर रहे तथा अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए।

एफएसएल अधिकारी अरविंद नायक के अवकाश पर होने के कारण देवास से एफएसएल टीम बुलाई गई। करीब डेढ़ घंटे बाद टीम मौके पर पहुंची तथा घटनास्थल की जांच के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020