उज्जैन। इंदौर रोड पर रविवार शाम बड़ा हादसा टलने के बाद एक बार फिर कई सवाल खड़े हुए हैं। उज्जैन-इंदौर रूट पर रोजाना दर्जनों बसें कई बार फेरा लगाती हैं। सैकड़ों यात्री रोज सफर करते हैं। बस ऑपरेटर क्षमता से दोगुना यात्रियों को बैठाकर बेकाबू गति से बसें चला रहे हैं। इसके बावजूद कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो रही।

रविवार को दुर्घटना का शिकार हुई बस के यात्रियों ने बताया कि ड्राइवर ने इंदौर से निकलने के बाद दो बार अंधगति से वाहनों को ओवरटेक करने की कोशिश की थी। कुछ यात्रियों ने उसे टोका भी था, मगर जवाब मिला कि यहां तो बस ऐसे ही चलती है। दुर्घटना के बाद सहमे यात्रियों में रोष भी था। पुलिस को जांच में यह भी पता चला है कि 34 सीटर बस में 60 यात्री बैठे थे।

अहमदाबाद से इंदौर आए यात्री सुशील पटेल ने बताया कि वे उज्जैन में महाकाल दर्शन के लिए जा रहे थे। आगे की ओर बैठे थे। ड्राइवर तेज गति से बस को चला रहा था। दो बार उसने पहले भी तेज रफ्तार में ही ओवरटेक करने का प्रयास किया था। उस दौरान भी बस असंतुलित हो गई थी।

इस पर उन्होंने व अन्य यात्रियों ने उसे टोका भी था कि भाई धीरे चलाओ, मगर वह अभद्रता करने लगा। बोला कि यहां तो ऐसे ही बस चलती है। वहीं एक अन्य यात्री माया ने बताया कि ड्राइवर अन्य यात्रियों को बैठाने व पहले पहुंचने के लिए बस तेज चला रहा था। गनीमत रही कि बस पुल पर लटक गई वरना हम लोगों की जान ही चली जाती।

नानाखेड़ा बस स्टैंड पर मचती है होड़

इंदौर रूट पर शहर से करीब 25 से अधिक बसें चलती हैं। अधिकांश बसें नानाखेड़ा बस स्टैंड से चलती हैं। यहां सवारियों को बैठाने की होड़ मची रहती है। इसके बाद यहीं बसें कई फेरें लगाती हैं। अधिक मुनाफे के चक्कर में कई बार चालक अंधगति से बसें दौड़ाते हैं। इससे यात्रियों की जान पर खतरा बना रहता है। पूर्व में भी इंदौर रोड पर बेकाबू बसों के कारण कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। इसके बावजूद जिम्मेदार विभाग कोई कार्रवाई नहीं करते।

कांग्रेस प्रदेश सचिव करते हैं संचालन, पुलिस जब्त नहीं कर पाई बस

यह बस अंजना शुक्ला के नाम पर रजिस्टर्ड है और ज्वालेश्वरी ग्रुप के नाम से संचालित होती है। संचालक कांग्रेस के प्रदेश सचिव रवि शुक्ला हैं। शुक्ला जिले के प्रभारी मंत्री सज्जनसिंह वर्मा के करीबी बताए जाते हैं। रविवार रात पुलिस ने ड्राइवर के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। हालांकि पुलिस रात तक बस जब्त नहीं कर पाई।

Posted By: Hemant Upadhyay