उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दमदमा क्षेत्र के एक युवक की टवेरा माकड़ोन में तीन युवक लेकर भाग निकले। एक युवक ने अपनी मां की बीमारी का बहाना बनाकर माकड़ोन से आगर ले जाने के लिए गाड़ी बुक की थी। रास्ते में लघुशंका के लिए वाहन रोका और झांसा देकर वाहन ले भागे। पुलिस ने तीन बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पुलिस ने बताया कि आयुष पुत्र मनोज उम्र 19 वर्ष निवासी कोठी रोड दमदमा टवेरा वाहन संचालित करता है। मंगलवार को दिलीप गुर्जर निवासी माकड़ोन ने अपनी मां के बीमार होने पर उसे माकड़ोन से आगर ले जाने की बात कर वाहन बुक किया था। इसके बाद दिलीप अपने दो साथियों के साथ माधवनगर अस्पताल के समीप से वाहन में बैठा था। माकड़ोन पहुंचने के बाद उसने किसी को फोन किया और आयुष को कहा कि मां को आगर ले गए हैं गाड़ी आगर ले चलो, कुछ दूरी पर जाकर चाय, नाश्ता व लघुशंका के नाम पर वाहन को रुकवा लिया था। जिसके बाद झांसा देकर दिलीप व उसके साथी गाड़ी लेकर रफूचक्कर हो गए। आयुष ने अपने दोस्त ईश्वर जाटवा के साथ थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है। दिलीप के मोबाइल नंबर की लोकेशन व काल डिटेल खंगाली जा रही है।

बीपीएल परिवारों का सर्वे.. 2500 फर्जी मिले, 1200 के नाम काटने का आदेश

उज्जैन। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के सर्वे में शहर के 24 हजार परिवारों में से 2500 परिवार फर्जी मिले हैं। कलेक्टर आशीष सिंह ने 1200 परिवारों का नाम सूची से काटने के निर्देश जारी किए हैं। पात्रता न होने पर भी बीपीएल सूची में नाम जुड़वाए ऐसे लोगों के नाम पहले भी काटे जा चुके हैं। सर्वे का काम अभी जारी जारी है। कलेक्टर ने 30 सितंबर तक सर्वे कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। कहा है कि बीपीएल परिवारों का घर-घर जाकर भौतिक सत्यापन करें। अगर कोई फर्जी गरीब मिलता है तो उसका नाम सूची से काटना प्रस्तावित करें। उज्जैन शहर में 77000 गरीबी रेखा की सूची में जुड़े लोगों का सर्वेक्षण कार्य होना है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local