उज्जैन, Ujjain Crime News। लोकायुक्त ने पुलिस ने गुरुवार को पंजीयक कार्यालय के भृत्य को तीन हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। भृत्य ने तराना के एक युवक से मकान की सत्यापित रजिस्ट्री की प्रति निकालने के एवज में चार हजार रुपये की घूस मांगी थी। युवक ने लोकायुक्त को शिकायत की थी। गुरुवार को पंजीयक कार्यालय में जैसे ही भृत्य ने घूस के रुपए लिए लोकायुक्त ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

डीएसपी वेदांत शर्मा ने बताया कि तराना निवासी शैलेंद्र पवार अपने चाचा कमल सिंह निवासी तराना के मकान की सत्यापित प्रतिलिपि निकालने के लिए पंजीयक कार्यालय गया था। वहां भृत्य नारायण सिंह रावत ने शैलेंद्र से चार हजार रुपये की घूस मांगी थी। लेकिन शैलेंद्र उसे रिश्वत के रुपए नहीं देना चाहता था। इस पर उसने लोकायुक्त को शिकायत की थी। लोकायुक्त ने काल रिकार्डर पर आवेदक शैलेंद्र व नारायण सिंह की बातचीत रिकार्ड की थी। तीन हजार रुपये में सौदा तय हुआ था। गुरुवार को दोपहर करीब 12 बजे शैलेंद्र सिंह रुपए लेकर पंजीयक कार्यालय पहुंचा था। जैसे ही उसने रुपए दिए और इशारा किया लोकायुक्त ने भृत्य नारायण सिंह को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags