बड़नगर। तहसील के दक्षिण क्षेत्र में स्थित ग्राम पीपलू और लोहाना में आज तेजादशमी पर मन्नात पूरी होने पर ग्रामीणजनों द्वारा मंदिर पर निशान चढ़ाए जाएंगे। इस दौरान सर्पदंश के बाद ठीक होने वालों की तांती भी छुड़ाई जाएगी। ग्राम पीपलू स्थित वर्षों पुराने सत्यवादी वीर तेजाजी महाराज के स्थानक पर आज तेजादशमी पर मेले जैसा माहौल रहेगा। आसपास के ग्रामों सतवासा, खंडवा बीबी, गाजीखेड़ी, मुरडका, खाचरौदा, पायकुंडा सहित आसपास के अन्य ग्रामों से ग्रामीणजन यहां आकर मन्नात पूर्ण होने पर निशान चढ़ाएंगे। इस दौरान यहां मेले जैसा माहौल रहेगा। नवमी पर रातीजगा के साथ ही तेजादशमी पर दिन भर यहां दर्शनार्थियों की भीड़ उमड़ेगी। मान्यता है कि तेजादशमी के दिन किसी भी समय यहां नाग देवता दर्शन देते हैं।

35 क्विंटल वजनी घोड़े पर सवार वीर तेजाजी महाराज की लगाई जाएगी मूर्ति

ग्रामीणों के सहयोग से ग्राम पीपलू के इस स्थानक पर मंदिर के अग्रभाग के ऊपर 35 क्विंटल वजनी वीर तेजाजी महाराज की घोड़े पर सवार मूर्ति एक माह बाद लगाई जाएगी। दीपावली के बाद लगने वाली इस प्रतिमा की लागत एक लाख 21 हजार के करीब है। उक्त प्रतिमा तेजाजी महाराज की जन्मस्थली खरनाल राजस्थान के समीप सुरसुरा से लाई जाएगी। क्रेन द्वारा मंदिर के अग्रभाग के ऊपर चढ़ाकर स्थापित किया जाएगा।

केमिकल डिवीजन उद्योग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष ने दिया त्यागपत्र

नागदा जं.। ग्रेसिम केमिकल डिवीजन उद्योग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डा. अनिल कामलिया ने एक वर्ष सेवाकार्य के बाद पद से त्यागपत्र दिया। इनकी जगह एचआर हेड राजीव दुबे को पदस्थ किया गया है। इनके कार्यकाल के दौरान उद्योग में सिक्युरिटी गार्ड के अलावा एक चार का पुलिस गार्ड तैनात किया था। ग्रेसिम केमिकल डिवीजन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डा. अनिल कामलिया ने एक वर्ष सेवा के बाद 15 सितंबर को पद से त्याग पत्र दे दिया। सूत्रों के अनुसार कामलिया गुजरात के निवासी हैं। उन्होंने वहीं के कोई उद्योग में अच्छे पद पर नियुक्ति होने पर यहां से त्याग पत्र दिया। कामलिया ने उद्योग में एक अगस्त 2020 को ज्वाईन किया था। 1 अक्टूबर 2020 को उन्होंने चार्ज लिया था। इनके त्यागपत्र के बाद उद्योग के एचआर हेड राजीव दुबे को पदस्थ किया गया है। कामलिया के कार्यकाल में उद्योग का पांच वर्षीय श्रमिकों का समझौता हुआ। पिछले कुछ वर्षों से उद्योग में चोरियां थम नहीं रही थी। कामलिया ने शासन से एक चार पुलिस गार्ड की मांग कर गार्ड पदस्थ कराई है। इसके बाद से उद्योग में चोरियां का दौर कुछ थमा है। प्रदेश का पहला उद्योग केमिकल डिवीजन है, जहां उद्योग के सुरक्षागार्ड के अलावा पुलिस जवान तैनात किए गए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local