नागदा जं.। आस्था और विश्वास के प्रतीक तेजा दशमी के उपलक्ष्‌य में शहर के मुख्य मार्गों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए आकर्षक निशान सादगीपूर्ण तरीके से निकाला। निशान के साथ कोई भजनों की मधुर तान पर थिरकता हुआ पाल्यारोड स्थित रामसहायमार्ग व जूना नागदा, तेजाजी महाराज के मंदिर पहुंचा।

तेजा दशमी के उपलक्ष्‌य में दिनभर शहर के मुख्य मार्गो से मन्नाती निशान निकलने का क्रम जारी रहा। मुख्य समारोह का आयोजन पाल्याकलां स्थित प्राचीन नवकाली नाग देवता मंदिर में हुआ। मंदिर में ध्वज पूजन, अभिषेक, पूजन के साथ ही धार्मिक आयोजन की धूम रही। इसी तरह शहर के रामसहाय मार्ग स्थित तेजाजी के मंदिर पर दिनभर दर्शन करने के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। महाआरती एवं हवन का आयोजन हुआ। एसडीएम आशुतोष गोस्वामी, सीएसपी मनोज रत्नाकर ने दोपहर में पाल्याकलां पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जूना नागदा स्थित तेजाजी के मंदिर पर भी निशान सादगीपूर्ण तरीके से चढ़ाए गए। शहर के विभिन्ना स्थानों निकलने वाले मन्नाती निशानों का समागम हुआ। इसी क्रम में 56 ब्लाक रामजानकी मंदिर के पीछे स्थित तेजा मंदिर पर दिनभर धार्मिक आयोजनों की धूम रही। ओपी गेहलोत एवं सरपंच नृसिंह सिसोदिया ने बताया कि मंदिर से निशान मुख्य मार्गों से निकाला गया। शाम महाआरती में इस दौरान किशनलाल राठौर, योगेश फाटक, महेश राठौर, राधेश्याम सिंदल, मोहित गेहलोत, महेश वर्मा, भंवरलाल, मोहनलाल, गंगाराम, विजय कुमार, योगेश फाटक, सोनू आदि मौजूद थे। जूना नागदा में पं. गणेशलाल एवं कमलेश शर्मा के आचार्यत्व में हवन, पूजन हुआ। आहुतियां राधेसिंह सोलंकी, दीपसिंह सोलंकी, मोहनसिंह नरवलिया, वीरेंद्रसिंह सोलंकी ने दी। हवन की पुर्णाहुति के पश्चात गांव के प्राचीन मंदिर से निशान का कारवां ढोल की थाप पर निकाला गया। गांव बेरछा स्थित नागदेवता मंदिर में पंडित मांगीलाल शर्मा के मार्गदर्शन में श्रद्धालुओं ने दर्शन लाभ लिया।

धूमधाम से मनाया गया तेजा दशमी उत्सव

बड़नगर। तेजादशमी का पर्व प्रतिवर्षानुसार की तरह श्रद्धा और आस्था के साथ मनाया गया। तेजाजी चौक स्थित वीर तेजाजी मंदिर पर सुबह से बारिश के दौरान भी दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा। मन्नात पूरी होने पर निशान चढ़ाए गए।

इसी प्रकार ग्राम इंगोरिया में घर-घर निशान सजाए गए। मनौतियां पूर्ण होने पर तेजा दशमी के दिन गांव के नाग चबूतरे पर दोपहर 3 बजे से निशान चढ़ना शुरू हो गए। ग्राम में छोटा मंदिर स्थित चबूतरे पर सबसे ज्यादा निशान चढ़े। यहां पुजारी नारायणदास बैरागी ने दोपहर में तेजाजी महाराज एवं नाग देवता की आरती उतारी और तेजाजी की तांती छोड़ कर श्रद्धालुओं ने मन्नात पूरी की। ग्राम अमला में भी तेजा दशमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local