Ujjain Health News: उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बढ़ती उम्र के साथ मोटापा, चिंता और अनियंत्रित खानपान उच्च रक्तचाप का महत्वपूर्ण कारण है। इसके अलावा शरीर में कोलेस्ट्राल जमा होना, किडनी की समस्या, शरीर में नमक की मात्रा असंतुलित होने, थायराइड, तनाव, जंक फूड, फास्ट फूड के कारण भी रक्तचाप की समस्या पैदा हो रही है। यह बात चिकित्सक डा. अंकुर गुप्ता ने नईदुनिया हेलो डाक्टर कार्यक्रम में पाठकों के सवालों के जवाब में कही। डा. गुप्ता ने कहा कि रक्तचाप के कारण चक्कर आना, घबराहट, थकान, कमजोरी, हाथ पैरों में झनझनाहट होना, सिरदर्द इसके मुख्य लक्षण हैं। इस बीमारी को देखकर पता नहीं लगाया जा सकता, इसलिए जांच करने पर ही इस बीमारी का पता चलता है।

खतरनाक है रक्तचाप

रक्तचाप के कारण लकवा, हृदयाघात, शरीर के किसी अंग से खून बहना, थायराइड, किडनी खराब होना, आंखों की रोशनी कम होने की समस्या पैदा होने का खतरा रहता है। रक्तचाप की समस्या होने पर व्यक्ति को नमक कम खाना चाहिए यानि लगभग 3 से 5 ग्राम, सलाद का सेवन, पैदल चलना, कसरत करना, पर्याप्त नींद लेना शुरू कर देना चाहिए। तनाव को भी कम करना चाहिए। अमूमन लोगों को 30-40 वर्ष की आयु के बाद रक्तचाप की जांच करवा लेना चाहिए। पर यदि 20-30 वर्ष की आयु में उच्च रक्तचाप की समस्या होती है तो जिस कारण से यह बीमारी हो रही है, उसका पता लगाकर निदान करना आवश्यक है।

यह बड़ी विडंबना है कि समाज में जागरूकता के अभाव में लगभग 50 प्रतिशत लोगों को ही पता है कि उनको रक्तचाप है। इनमें से भी 50 प्रतिशत लोग दवा ले रहे हैं और दवा लेने के बावजूद 50 प्रतिशत लोग ही स्वस्थ हैं।

पाठकों के सवाल, डा. गुप्ता के जवाब

मुझे उच्च रक्तचाप है। सर्दी बढ़ने पर क्या सावधानी बरतना चाहिए।

-राजेंद्रसिंह सांखला, उज्जैन

उत्तर- सर्दी की जो दवाएं चल रही हैं, उसे नियमित लें। ठंड से बचें। नमक कम करें, सलाद लें, पानी पिएं।

निम्न रक्तचाप की दवाई आती है क्या।

-रीना गुप्ता, उज्जैन

उत्तर- लो ब्लड प्रेशर की दवाई आती है। निम्न रक्तचाप है तो नमक-शकर का घोल लें, कसरत करें। खानपान सुधारें। 110-70, 90-60 तक रक्तचाप सामान्य है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close