उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि), Ujjain Hospital Fire। फ्रीगंज क्षेत्र स्थित पाटीदार अस्पताल में रविवार को लगी आग में झुलसी 86 वर्षीय महिला की इंदौर में उपचार के दौरान मौत हो गई। महिला के स्वजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर कई आरोप लगाए हैं। कहा है कि आग के दौरान स्टाफ ने अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई इस कारण मरीज झुलस गए। बता दें कि पाटीदार अस्पताल में लगी आग में चार मरीज झुलस गए थे। इसमें से दो मरीज गंभीर थे। 86 वर्षीय सावित्री श्रीवास्तव भी गंभीर रूप से घायल हो गई थीं। उनका इंदौर के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। मंगलवार सुबह उनकी मौत हो गई। स्वजनों ने नईदुनिया को बताया कि वे अंतिम संस्कार के लिए उज्जैन आ रहे हैं। स्वजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए कहा कि जिस वक्त आग लगी उस समय स्टाफ भाग खड़ा हुआ, जिससे सावित्री झुलस गई थीं।

चार अधिकारियों की टीम कर रही जांच

मामले की जांच के लिए कलेक्टर आशीष सिंह ने चार अधिकारियों की एक कमेटी बनाई है। यह कमेटी आग के कारण, अस्पताल प्रबंधन की कमियां आदि पर एक रिपोर्ट कलेक्टर को सौंपगी। माना जा रहा है कि इसके बाद पाटीदार अस्पताल प्रबंधन पर कार्रवाई भी हो सकती है। इधर इस घटना के बाद नगर निगम की ओर से शहर के सभी बड़े अस्पतालों को नोटिस जारी किए गए हैं। नोटिस के जरिए सभी से अग्नि सुरक्षा इंतजाम करने और निगम से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेने को कहा गया है। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags