नागदा जंक्शन, उज्जैन। भूमि सीमांकन के नाम पर रिश्वत मांगने वाले पटवारी को गुरुवार दोपहर लोकायुक्त उज्जैन की टीम ने रंगेहाथों पकड़ा। टीम ने पटवारी से रिश्वत के रूप में ली गई राशि को जब्त कर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में प्रकरण दर्ज कर मुचलके पर छोड़ दिया। इस कार्रवाई से पटवारियों में हड़कंप मच गया। पटवारी की शिकायत 19 दिन पहले लोकायुक्त को मिली थी। तीन बार टीम को सफलता नहीं मिली। चौथी बार कार्रवाई में पटवारी को पकड़ा जा सका।

लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव ने बताया कि बेरछा निवासी विश्वप्रतापसिंह पंवार ने 18 जून को शिकायत की थी। विश्वप्रतापसिंह ने माता ललिताकुंवर, पिता नटवारसिंह के नाम से दो अलग-अलग कृषि भूमि के सीमांकन के लिए आवेदन किया था। इसके एवज में पटवारी जितेंद्र राणावत ने उससे 10-10 हजार रुपये की मांग की थी, जिसमें आधी राशि पटवारी राणावत को दे चुका था। शेष राशि सात हजार रुपये की राशि के एवज में 3500-3500 रुपये देना तय हुआ था। सीमांकन के बाद भी पटवारी रिपोर्ट तहसील कार्यालय में प्रस्तुत नहीं कर रहा था। इससे नाराज होकर लोकायुक्त को शिकायत की थी। लोकायुक्त एसपी ने मामले की जांच निरीक्षक श्रीवास्तव को सौंपी। 20 जून को लोकायुक्त की टीम ने नागदा पहुंचकर वाइस रिकार्डिंग की थी।

इसके बाद पटवारी को ट्रैप करने की योजना तैयार की गई। पटवारी को ट्रैप करने के लिए टीम तीन बार शहर आ चुकी थी, सफलता नहीं मिली थी। पटवारी के चुनाव ड्यूटी में चले जाने से मामला टल गया। गुरुवार की सुबह आठ बजे से टीम शहर के बायपास पर डेरा डाले हुए थी। गुरुवार की दोपहर लगभग दो बजे योजनाबद्ध तरीके से विश्वप्रतापसिंह रुपये लेकर पटवारी के डा. भिंडिया की गली स्थित आवास पर पहुंचा। जैसे ही विश्वप्रताप ने पटवारी को रुपये हाथ में दिए, टीम ने ट्रैप कर लिया। कार्रवाई के दौरान आरक्षक विशाल, संदीप, महेंद्र, उमेश, कुणाल पुरोहित सहायक ग्रेड तीन भी मौजूद थे।

पूर्व में भी मिल चुकी शिकायतें

पटवारी राणावत मूलरूप से दोतवास तहसील तराना का रहने वाला है। तीन वर्षों तक बेरछा में पदस्थ रहा। राणावत की पूर्व में भी शिकायत एसडीएम आशुतोष गोस्वामी के पास आई, ठोस प्रमाण के अभाव में कार्रवाई नहीं हो सकी। इसके पहले राणावत नागदा तहसील के अंतर्गत आने वाले गांव टूटियाखेड़ी, राजगढ़ में पदस्थ रह चुका है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close