Ujjain News उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आगर रोड पर पाट क्षेत्र के पास कालीसिंध नदी पर बनाए जा रहे पुल का एक हिस्सा गिरने के बाद मौके पर पहुंचे कलेक्टर सहित आला अधिकारियों ने सभी तरह की जानकारियां जुटाईं। निर्माणाधीन पुल लोक निर्माण विभाग, सेतु संभाग की देखरेख में बनाया जा रहा है। विभागीय इंजीनियरों ने बुधवार शाम 6.30 बजे इसकी निरीक्षण भी किया था। निरीक्षण के 21 घंटे बाद 15 मीटर का स्लैब गिर गया। मामले में अधिकारियों ने जांच की बात कही है। इधर तराना विधायक महेश परमार ने ठेकेदार पर एफआइआर कराने और घायलों को 10-10 लाख रुपये मुआवजे देने की मांग की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पुल पर 14 स्पान डाले जा चुके थे। 15वां स्पान डालने का काम चल रहा था। इसी दौरान 15 मीटर का स्लैब गिर गया। जानकारों के अनुसार स्लैब को कांक्रीट करते वक्त ट्रस को बोल्ट टूटने से हिस्सा गिरा होगा। इधर मौके पर पहुंची पुलिस ने बताया कि स्लैब डालते समय नीचे सपोर्ट के लिए लगाए गए लोहे के एंगल टेढ़े हो गए थे, इस कारण हिस्सा गिर गया। कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि सभी जानकारियां ली गई हैं, इसकी जांच करा रहे हैं।

आधे घंटे तक धरना, गुणवत्ता की जांच की मांग

दुर्घटना के बाद तराना विधायक महेश परमार, उज्जैन जिला कांग्रेस अध्यक्ष कमल पटेल भी मौके पर पहुंच गए थे। दोनों नेताओं ने अपने समर्थकों के साथ आधे घंटे तक धरना दिया। बाद में अधिकारियों से चर्चा की। विधायक ने पुल निर्माण में उपयोग में लाई जा रही सामग्री की गुणवत्ता जांचने की मांग की। साथ ही कहा कि ठेकेदार की लापरवाही के कारण ये हादसा हुआ है। इसलिए उस पर एफआइआर होना चाहिए। विधायक ने आरोप लगाए कि पुलिस निर्माण में 25एमएम की बजाय 12एमएम के सरियों का इस्तेमाल किया जा रहा है। धरना दे रहे नेताओं ने घायल मजदूरों को 10-10 लाख रुपये मुआवजे और पूरे इलाज का खर्ज उठाने की मांग की।

ये मजदूर घायल, अस्पताल में भर्ती

माकड़ोन टीआइ गजेंद्र पचौरिया ने बताया कि स्लैब गिरने के कारण वहां काम कर रहे गणेश, शंकर, हजारिया, शुभम, नरेश, कृष्णा नामक मजदूर घायल हो गए। सभी को उज्जैन के निजी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती करवाया गया है।

किसी के दबे होने की आशंका में मलबा हटाया

दुर्घटना के बाद मलबे में किसी के दबे होने की आशंका होने के कारण पुलिस देर शाम तक मलबा भी हटवाती रही। हालांकि देर रात कोई मिला नहीं था। विधायक परमार ने कहा कि मलबे में कोई बुजुर्ग व्यक्ति दबा हुआ है।

ब्रिज पर 15वां स्पान डालते वक्त यह दुर्घटना घटी। पंप से स्लैब का कांक्रीट किया गया था। इस दौरान ट्रस का बोल्ट टूटने से स्लैब गिर गया। पूरे मामले की जांच करवा रहे हैं।

एसके अग्रवाल, कार्यपालन यंत्री, लोक निर्माण विभाग, सेतु संभाग

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस