उज्जैन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगर निगम की निर्माणाधीन मल्टियों में फ्लैट बेचने को गुर्स्वार को सामाजिक न्याय परिसर में आवास ऋण मेला लगाया गया। दिनभर में 54 ग्राहक आए, जिन्होंने मौजूद गिनती के चार निगम कर्मचारियों और एक फायनेंस कंपनी के प्रतिनिधि से फ्लैट के क्षेत्रफल, कीमत और सबसिडी की जानकारी ली। फ्लैट देख निगमकर्मी से कहा कि फ्लैट तो अच्छे हैं, पर कीमत कम हो तो अच्छा होगा।

बैंकवाले उद्घाटन में चाय-नाश्ता कर चले गए और दिनभर आए ग्राहकों को पीने के लिए न पानी मिला, ना साइट विजिट करने को वाहन।आवास ऋण मेला शुक्रवार को सुबह 10.30 से शाम 5.30 बजे तक लगेगा।

दो साल में बनकर तैयार होगी मल्टी

कानीपुरा मार्ग में बन रही मल्टी दो साल में बनकर तैयार होगी। जो भी शख्स इन मल्टी में फ्लैट खरीदेगा, उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत ढाई लाख र्स्पये की सबसिडी मिलेगी। कानीपुरा मार्ग पर एलआइजी श्रेणी अंतर्गत दो बेडरूम, एक हॉल, किचन वाला 750 वर्ग फीट का फ्लैट ग्राहक को 17 लाख र्स्पये में और एमआइजी श्रेणी अंतर्गत 850 वर्ग फीट का फ्लैट 21 लाख र्स्पये में मिलेगा। रजिस्ट्री का पैसा अलग लगेगा। फ्लैट बुक कराने के लिए 10 फीसद राशि डिमांड ड्राफ्ट के जरिये जमा कराना होगी। ईडब्ल्यूएस श्रेणी का एक बेडरूम हॉल, किचन वाला फ्लैट 2 लाख र्स्पये में मिलेगा। मंछामन क्षेत्र में ईडब्ल्यूएस फ्लैट 5 लाख र्स्पये में मिलेगा।

साल 2017 में हुआ था मल्टी का निर्माण शुरू

कमजोर एवं निर्धन वर्ग के लोगों को मजबूत और किफायती आवास मुहैया कराने को अफोर्डेबल हाउसिंग प्रोजेक्ट (एएचपी) अंतर्गत मल्टी का निर्माण नगर निगम ने साल 2017 में शुरू कराया था। तब गुजरात की ओमनी कंपनी को साल 2020 तक 142 करोड़ र्स्पये में 2006 फ्लैट बनाकर देने का अनुबंध किया था। अनुबंध हुआ कि पहले चरण में साल 2018 अंत तक कंपनी कानीपुरा मार्ग में 152 ईडब्ल्यूएस, 132 एलआइजी, 144 एमआइजी श्रेणी के फ्लैट और मंछामन क्षेत्र में 480 ईडब्ल्यूएस श्रेणी के फ्लैट बनाकर देगी। यानी कुल 908 फ्लैट। मगर निर्माण की गति धीमी होने से ये फ्लैट बनकर तैयार नहीं हुए। इस अवधि में नगर निगम ने 491 लोगों से फ्लैट मुहैया कराने को बुकिंग अमाउंट स्वरूप 3 करोड़ 84 लाख र्स्पये प्राप्त कर लिए थे। र्स्पये लेने के साथ वादा किया गया था कि नवंबर-2018 तक उन्हें फ्लैट आवंटित कर दिए जाएंगे। मगर ऐसा नहीं हो सका। वर्ष 2019 में ओमनी कंपनी से काम छीन ठेका समाप्त कर दिया। उस समय तक हुए काम की कीमत 15 करोड़ र्स्पये आंकी गई थी। अधूरा काम पूरा कराने को निगम ने दो महीने पहले निविदा प्रक्रिया कर गुजरात की ही ज्योति इन्फ्राटेक कंपनी को 74 करोड़ र्स्पये में ठेका दिया है। अनुबंध हुआ है कि ये कंपनी दो साल में प्रोजेक्ट पूरा करेगी। इसी राशि से वह अलखधामनगर में व्यावसायिक कॉम्प्लेक्स भी बनाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags