- कांग्रेस की कौशल्या ठाकुर को 10 मतों से हराया

- 13 पार्षदों वाली कांग्रेस का दावा निकला खोखला, नहीं चला आर्थिक प्रलोभन

नागदा जंक्शन। नपाध्यक्ष व उपाध्यक्ष के चुनाव को लेकर पिछले एक सप्ताह से गहमागहमी चल रही थी। 13 पार्षद वाली कांग्रेस के कुछ नेताओं अध्यक्ष, उपाध्यक्ष पद पर कब्जा करने का सपना धरा रह गया। बुधवार को हुए चुनाव में भाजपा ने फिर से परचम लहराते हुए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व अपील समिति पर कब्जा कर लिया। अध्यक्ष 10 मत, उपाध्यक्ष 9 मत व अपील समिति के सदस्य 8-8 मत से विजयी घोषित हुए। परिणाम को लेकर भाजपा में इतना उत्साह था कि तेज बरसात में भी वाहन रैली निकाली।

पार्षद पद के परिणाम घोषित होने के बाद 36 में से 22 भाजपा, एक निर्दलीय व 13 पार्षद कांग्रेस के आए। इसके बाद से ही 13 पार्षद वाली कांग्रेस के एक पार्षद द्वारा नपा में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के लिए भाजपा पार्षदों को आर्थिक प्रलोभन देने का दावा कर कब्जा करने के प्रयास लगातार किए जा रहे थे। मंगलवार की रात तक एक पार्षद पति व उनके दो सहयोगी पार्षद भाजपा पार्षदों को तोड़ने का प्रयास करते रहे। बुधवार को हुए चुनाव में भाजपा की ओर से अध्यक्ष पद की प्रत्याशी संतोष ओपी गेहलोत, कांग्रेस की ओर से कौशल्या देवी ठाकुर ने नामांतरण दाखिल किया। गेहलोत को 23 व कौशल्या ठाकुर को 13 मत मिले। 10 मतों से गेहलोत विजयी घोषित हुई। उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा के सुभाष शर्मा को 22 व कांग्रेस की श्यामकुंवर विक्रम शेखावत को 14 मत मिले। 9 मतों से शर्मा विजयी घोषित हुए। अपील समिति के लिए भाजपा से बिट्टू यादव व सतीश केथवास को 21-21 व कांग्रेस से बंटू व मेघा धवन को 15-15 मत मिले। 8 मतों से यादव व कैथवास विजयी घोषित हुए। झमाझम वर्षा में भी कार्यकर्ताओं बड़ी संख्या में एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अध्यक्ष पति ओपी गेहलोत का फूल मालाओं से स्वागत कर मिठाई वितरित कर भाजपा के झंडे लहराए। शाम 4 बजे अपील समिति के सदस्यों के चुनाव होने के बाद रैली के रूप में स्थानीय सर्किट हाऊस पर पहुंचे। वहां भाजपा जिलाध्यक्ष बहादुरसिंह बोरमुंडला, पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत, लालसिंह राणावत, डा. तेजबहादुरसिंह चौहान, मंडल अध्यक्ष सीएम अतुल के नेतृत्व में झमाझम बारिश में वाहन रैली के रूप में महात्मा गांधी मार्ग स्थित भाजपा कार्यालय पर पहुंचकर रैली का समापन हुआ।

000000000

37 वर्ष बाद भाजपा का अध्यक्ष चुना गया

महिदपुर। नगर पालिका में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को लेकर हुए निर्वाचन में भाजपा की नानीबाई ओमप्रकाश माली अध्यक्ष व राजाराम कहार उपाध्यक्ष चुने गए। 37 वर्ष बाद नपा में भाजपा समर्थित अध्यक्ष चुना गया है। भाजपा की ओर से नानीबाई ओमप्रकाश माली को अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार बनाया गया था। कांग्रेस की ओर से अरुणा अनिल आंचलिया को खड़ा किया गया। नानीबाई को 12 वोट मिले और अरुणा को 6 मत। 8 मत से नानीबाई विजयी हुईं। उपाध्यक्ष पद के भाजपा ने राजाराम कहार को व कांग्रेस ने गुलाम मो. उर्फ बाबा नागोरी को खड़ा किया। राजाराम को 11 मत व गुलाम को 7 मत प्राप्त हुए।

नगरपालिका में 18 पार्षद की नगरपालिका है जिसमें 9 पार्षद भाजपा के 1 निर्दलीय व 8 कांग्रेस के पार्षद है। कल हुए मतदान में भाजपा की नानीबाई ओमप्रकाश माली को अध्यक्ष के लिये उम्मीदवार बनाया गया था जिनमें 12 वोट नानीबाई माली को प्राप्त हुए जबकि कांग्रेस की अरुणा आंचलिया को मात्र 6 मत प्राप्त हुए। इसी प्रकार भाजपा के उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी राजाराम कहार को 11 मत प्राप्त हुए एवं कांग्रेस के गुलाम मो. उर्फ बाबा नागोरी को 7 मत प्राप्त हुए। 37 साल पहले भारतीय जनसंघ के बाबूलाल परमार अध्यक्ष की कुर्सी पर आसीन हुए थे। 7 वर्ष पहले कय्यूम नागोरी जनता द्वारा अध्यक्ष चुने गए थे। उस वक्त भी कांग्रेस के 8 पार्षद थे व भाजपा के 10 पार्षद थे। जब उपाध्यक्ष पद के लिए भाजपा के कैलाश राठी को उम्मीदवार बनाया गया था तो उन्हें 12 मत मिले थे तथा कांग्रेस के विजया निर्वाणी को 5 वोट मिले तथा 1 रिजेक्ट हुआ था। उस समय भी कांग्रेस के 8 पार्षद थे। कांग्रेस के 2 लोगों ने भाजपा के कैलाश राठी को वोट दिए थे तथा एक रिजेक्ट होने से 3 वोट उन्हें मिले थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close